केरल में भारी बारिश और भूस्खलन से 24 घंटे में 20 की मौत, केंद्र से मदद की गुहार

नई दिल्ली: केरल में कुदरत ने भारी तबाही मचाई है. यहां आज सुबह से राज्य में भारी बारिश और भूस्खलन की घटनाओं में 22 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में हालात इतने भयावह हो गए हैं कि कोचीन एयरपोर्ट को बंद करना पड़ा है. इधर चेन्नई से NDRF की चार टीमें केरल के लिए रवाना हो चुकी हैं. मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने आपात बैठक बुलाई है.भारी बारिश ने आम जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया है. कई इलाके जलमग्न हो गए हैं.

आपदा नियंत्रण कक्ष के सूत्रों के अनुसार सबसे ज्यादा इडुक्की जिले में 10 लोगों की जान गई। यहां के अदिमाली में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। इनके अलावा वायनाड, पलक्कड़ और कोझीकोड़ से तीन लोगों के लापता होने की खबर है। उधर, इडुक्की बांंध बारिश की वजह से भर गया है। 26 साल बाद इसका गेट खोला गया।

इससे पहले इदामालयार बांध के चार गेट खोले गए। इससे 600 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसका जलस्तर क्षमता (169 मीटर) से करीब एक मीटर ज्यादा हो गया था। राज्य के हालात का आंकलन करने के लिए मुख्यमंत्री पी विजयन ने आपात बैठक बुलाई। kerala Heavy rain subsequent water flow damaged a section of the track between Kanjikode and Walayarउन्होंने कहा, “हमने सेना, नौसेना, तटरक्षक बल और एनडीआरएफ को बुलाया है। एनडीआरएफ की तीन टीमें पहुंच गई हैं। दो टीम जल्द ही पहुचेंगी। हालात को देखते हुए नेहरू ट्रॉफी बोट रेस रद्द कर दी गई है।”

Web Title : 20 dead in 24 hours due to heavy rains and landslides in Kerala