एसीबी ने बीस हजार घूस लेते सीएमएचओ को दबोचा, रिटायर्ड डीएसओ से पेंशन संबंधी काम निपटाने की एवज में ली घूस

जयपुर। एसीबी टीम डूंगरपुर ने सोमवार को जिला सीएमएचओ डॉ राजेश शर्मा को बीस हजार रुपए की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। घूस की रकम शर्मा अपने ही विभाग से रिटायर खाद्य सुरक्षा अधिकारी से उसके पेंशन संबंधी काम निपटाने की एवज में ली जा रही थी। एसीबी ने डॉ राजेश शर्मा को गिरफ्तार कर पड़ताल शुरू कर दी है।

एसीबी के डीएसपी गुलाब सिंह ने बताया कि भरतपुर निवासी ज्ञानप्रकाश शर्मा ने सात जुलाई को ब्यूरों में शिकायत दी थी कि वह हाल ही में डूंगरपुर सीएमएचओ कार्यालय से खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पद से रिटायर हुआ था। पर रिटायरमेंट के बाद भी डूंगरपुर सीएमएचओ डाण् राजेश शर्मा उसके पेंशनए मई 2016 की सैलरीए सातवें वेतन आयोग की मद में से दो माह का एरीयर व पीएल संबंधी कार्य निपटाने की एवज में घूस की मांग कर रहा है।

परिवादी ने बताया कि उसके पास विभाग की तेरह प्रकरण की फाइलों का चार्ज था उसे भी सीएमएचओ स्विकार नहीं कर रहा था। आखिर में उसको राजेश शर्मा से सौदा करना पड़ा बीस हजार की घूस देना तय होने के दौरान एसीबी ने शिकायत का सत्यापन कर सोमवार दोपहर को परिवादी ने सौदे के मुताबिक घूस के बीस हजार रुपए सीएमएचओ को दिए। इस बीच एसीबी की टीम ने दबीश देकर डाण् राजेश शर्मा को घूस की रकम के साथ गिरफ्तार कर लिया। एसीबी की कार्रवाई के बाद स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया।

सीएम दौरे की फाइल में छिपा कर ली रिश्वत
एसीबी के डीएसपी गुलाब सिंह ने बताया कि डाण् राजेश शर्मा ने परिवादी से घूस के रुपए लेने के बाद अपनी टेबल पर रखी फाइल में छिपा दिए। यह फाइल मुख्यमंत्री के डूंगरपुर दौरे से जुड़ी तैयारियों को लेकर बनाई गई थी। एसीबी ने दफ्तर में छापा मारकर फाइल में से घूस की रकम जब्त कर ली।

Web Title : ACB takes 20,000 bribe to CMHO