नई दिल्ली। बंगाल से कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में विपक्ष के नेता होंगे। मंगलवार को मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसकी अधिकारिक घोषणा कर दी है। सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी के यह पद लेने से मना करने के बाद चौधरी को लोकसभा में पार्टी का नेता बनाया गया। मंगलवार सुबह राहुल गांधी की इस बाबत यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात भी हुई। पार्टी की ओर से लोकसभा को भेजे पत्र में कहा गया कि अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में पार्टी के नेता होंगे।
17वीं लोकसभा के प्रथम सत्र से पहले चौधरी की खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तारीफ कर चुके हैं। रविवार को सत्र की शुरूआत से एक दिन पहले पीएम ने चौधरी को फाइटर करार दिया था। बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें पास बुलाया था, जिसमें कांग्रेस के कई प्रतिनिधि भी शामिल थे। कॉन्फ्रेंस रूम से निकलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनकी पीठ थपथपाते हुए बाकी सभी नेताओं के सामने कहा था कि चौधरी फाइटर हैं। इस पर अधीर चौधरी ने बताया था कि मैंने प्रधानमंत्री को नमस्कार किया था। उन्होंने मेरी पीठ थपथपाई और सबके सामने कहा कि अधीर फाइटर हैं। मुझे इस पर खुशी हुई। मेरी किसी से निजी दुश्मनी नहीं है। हम जनप्रतिनिधि हैं और वे भी हैं। हम अपनी आवाज उठाएंगे और वे अपनी। कांग्रेसी सांसद चौधरी पश्चिम बंगाल के हैं। वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के कड़े आलोचक रहे हैं। वे 1999 से बंगाल के बहरामपुर इलाके से कांग्रेस का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उन्होंने इस बार के आम चुनाव में इस सीट से लगभग 80 हजार वोटों के अंतर से टीएमसी के अपूर्व सरकार को मात दी।