-राहुल ने कहां था प्रत्याशी चयन में ब्लॉक अध्यक्ष की राय अहम होगी

जयपुर। 11अगस्त को जयपुर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पैराशूट प्रत्याशी नहीं चलने और सत्ता और संगठन में निचले और आम कार्यकतार्ओं को सम्मान देने के बयान के बाद कांग्रेस कार्यकतार्ओं में उत्साह की लहर हैए उन्हें लगता है कि उन्हें वो सम्मान अब मिलने लगेगाए जो जिसके वे हकदार थे और उन्हें पिछले कई सालों से वो सम्मान नहीं मिल रहा था। संगठन में अब एकाएक कार्यकतार्ओं की पूछ भी बढ़ गई है। ऐसा ही नजारा इन दिनों संगठन के निचले स्तर ब्लॉक लेवल पर भी देखने को मिल रहा हैए जहां चुनाव लड़ने के इच्छुक कांग्रेसी नेता ब्लॉक अध्यक्षों के दर पर अपना बायोडाटा लेकर पहुंच रहे हैंए और उनसे अपना नाम पैनल में भेजने की गुजारिश करते दिख जाते हैं।प्रतीकात्मक तस्वीरब्लॉक अध्यक्षों के यहां दिन भर अब टिकटार्थियों का तांता लगा रहता है। दरअसल इसकी एक वजह यह भी है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान के बाद प्रदेश कांग्रेस की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि प्रत्याशियों के चयन में ब्लॉक अध्यक्षों की राय भी अहम होगीए क्योंकि प्रत्याशी का नाम नीचे के लेवल से भी आना चाहिएए इसके बाद से चुनाव लड़ने के इच्छुक नेता ब्लॉक अध्यक्षों के दर पर पहुंच कर उनकी मनुहार कर रहे हैं।

नहीं होती थी ब्लॉक अध्यक्षों की पूछ
पार्टी के जानकार सूत्रों की माने तो संभावित प्रत्याशियों के चयन में पहले ब्लॉक अध्यक्षों की राय को कोई अहमियत नहीं दी जाती थीए यहां तक जिलाध्यक्षों की राय को भी दरकिनार कर पैराशूट उम्मीदवारों को टिकट दिया जाता थाए जिससे ब्लॉक और जिला लेवल के कार्यकतार्ओं में प्रत्याशियों को लेकर नाराजगी दिखाई देती थी और इसका असर ये होता था कार्यकर्ता चुनाव में समर्पित होकर काम नहीं करतेए इसका खमियाजा पार्टी को प्रत्याशी की हार से चुकाना पड़ता थाए लेकिन प्रत्याशी चयन में अब निचली इकाई की राय को तवज्जों मिलने से कार्यकर्ता भी समर्पित भाव से पार्टी के लिए काम में जुटेंगे।

तीन नामों का पैनल बनाएंगे ब्लॉक अध्यक्ष
ब्लॉक अध्यक्ष तीन.तीन नामों का पैनल तैयार कर जिलाध्यक्ष और जिला प्रभारी को सौंपेंगे। इसके बाद ये पैनल प्रदेश प्रभारियों को सौंपा जाएगा। प्रदेश प्रभारी भी ब्लॉक अध्यक्षों की राय को अहम मानेंगे।