डाटा लीक के बाद फेसबुक में बड़ा फेरबदल, किया ये बदलाव

डाटा लीक मामले में घिरी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक अपनी मैनेजमेंट टीम में बड़ा बदलाव किया है। फेसबुक के CEO और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (COO) मार्क जुकरबर्ग और शेरिल सैंडबर्ग ही बने रहेंगे। लंबे समय से जुकरबर्ग की टीम का हिस्सा रहे क्रिस कॉक्स को फेसबुक के कोर एप्लीकेशंस के साथ-साथ स्मार्टफोन सेवाओं इंस्टाग्राम, व्हॉट्सएप्प और मैसेंजर की जिम्मेदारी दी गई है। कंपनी ने इसकी पुष्टि की।
 
रीकोड ने दी सबसे पहले जानकारी
फेसबुक के प्रमुख अधिकारियों के कामों में फेरबदल की जानकारी सबसे पहले प्रौद्योगिकी समाचार वेबसाइट रीकोड (www.recode.net) ने दी. फेसबुक ने अपनी उत्पादन और इंजीनियरिंग टीम को तीन इकाइयों में परिवर्तित किया है. इसमें उभरती हुई प्रौद्योगिकी से जुड़ा विभाग भी शामिल है, जो कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए इस्तेमाल होने वाली ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी पर ध्यान केंद्रित करेगा.
 
कई अधिकारियों के कामों में बदलाव किया
चार साल तक फेसबुक मैजेंसर की जिम्मेदारी संभालने वाले डेविड मर्कस ने अपने पोस्ट में कहा कि वह ‘फेसबुक में ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के तरीके तलाशने के लिए एक छोटा समूह गठित कर रहे हैं.’ अमेरिकी मीडिया में आई खबरों के अनुसार, एक दर्जन से अधिक अधिकारियों के कामों में बदलाव किया गया है.
 
कैम्ब्रिज एनालिटिका बंद कर रही कारोबार
इससे पहले खबर आई फेसबुक के डाटा शेयरिंग स्कैंडल में नाम आने के बाद ब्रिटेन स्थित पॉलिटिकल कंसल्टेंसी कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका कारोबार बंद कर रही है. कंपनी पर अपने राजनीतिक क्लाइंट्स की ओर से अनुचित तरीके से निजी जानकारियां हासिल करने का आरोप है. फेसबुक के मुताबिक, एक क्विज एप के जरिए 8.7 करोड़ लोगों के डेटा हासिल किए गए और बाद में इन्हें राजनीतिक कंसल्टेंसी को सौंप दिया गया.
 
फेसबुक का कहना है इस मामले में उनकी जांच जारी रहेगी. फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा, “इससे असल में क्या हुआ था, यह समझने के लिए हमारी प्रतिबद्धता और दृढ़ता में कोई बदलाव नहीं होगा और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इस तरह की घटना दोबारा नहीं हो.’ उन्होंने कहा, ‘हम जांच के लिए संबद्ध प्रशासन के साथ सहयोग देना जारी रखेंगे.’
Web Title : After the data leak, a major reshuffle in Facebook