Airtel-Huawei ने किया भारत में पहला 5G परीक्षण, रफ्तार सुनकर हैरान रह जाएंगे

नई दिल्ली: भारती एयरटेल और हुवावे ने भारत में 5G को लेकर आने की योजना को अमल देने की प्रक्रिया शुरू कर दी हैं। दोनों कंपनियों ने मिलकर 5G का पहला ट्रायल रन कर लिया हैं। इस मामले में एयरटेल ने कहा की एक छोटा सा ट्रायल भी भारत में 5G क्रांति की शुरुआत कही जा सकती हैं। 5G मोबाइल नेटवर्क 4G नेटवर्क की तुलना में 100 गुना ज्यादा स्पीड देने में सक्षम हैं।

भारती एयरटेल के नेटवर्क्स डाइरेक्टर अभय ने कहा की- ” 5G को लेकर आने का वादा अंतहीन है। 5G नेटवर्किंग का पूरा गेम ही बदल देगा। इससे हमारे जीने, काम करने और घुलने-मिलने का तरीका बदल जाएगा। हम अपने पार्टनर के साथ भारत में 5G ईकोसिस्टम लाने के लिए प्रतिबद्ध है। ”

भारत में 2020 तक आ सकता है 5G

भारत में 5G नेटवर्क उपभोक्ताओं तक 2020 तक पहुंच सकता है। अभी के लिए 5G उपलब्ध कराने का लक्ष्य 2020 को रखा है। इसी अंतराल में कथित योजनाओं और लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार ने उच्च स्तरीय फोरम सेटअप किया है। इस फोरम के तहत भारत में 5G लाने के रोडमैप और एक्शन प्लान मंजूर किए जाएंगे।

टेलिकॉम सेक्रेटरी अरुणा सुंदरराजन ने हाल ही में बताया है की टेलिकॉम डिपार्टमेंट जून 2018 तक 5G रोडमैप को अंतिम रूप दे देगा। हालंकि टेलिकॉम इंडस्ट्री जो 7 लाख करोड़ से ज्यादा के कर्जे में है (मार्किट में रिलायंस जियो के आने के बाद बढ़ी प्रतिस्पर्धा के कारण), ने सरकार से 5G स्पेक्ट्रेयम ऑक्शन को लेकर थोड़ा धीरे आगे बढ़ने का निवेदन किया है। लेकिन जाहिर तौर से एयरटेल 5G के लिए पहले से तैयार हो रही है।

एयरटेल और हुवावे ने किया 5G ट्रायल: 3.5GHz बैंड के अंदर 3Gbps स्पीड की हासिल

एयरटेल ने हुवावे के साथ ट्रायल रन में 3Gbps तक स्पीड हासिल कर ली है। यह स्पीड 3.5GHz बैंड के अंदर किसी भी मोबाइल नेटवर्क द्वारा प्राप्त की गई उच्चतम स्पीड है। इस ट्रायल रन में 5G कोर और 50GE नेटवर्क स्लाइसिंग राऊटर का प्रयोग किया गया था।

हुवावे के वायरलेस मार्केटिंग डाइरेक्टर ने भारत में किए गए ट्रायल टेस्ट को लेकर कहा की – ”हमें इंडस्ट्री प्लेयर्स के साथ काम करते रहना चाहिए। इससे मोबाइल ब्रॉडबैंड और बड़े ईको सिस्टम के निर्माण को और बेहतर किया जा सकेगा।”

एयरटेल ने साउथ कोरियाई SK टेलिकॉम के साथ भी की 5G के लिए साझेदारी

यह बात ध्यान देने लायक है की एयरटेल के 5G प्रयास हुवावे तक ही सीमित नहीं है। एयरटेल ने इससे पहले साउथ कोरियाई फर्म के साथ भी 5G विकास, सॉफ्टवेयर, नेटवर्किंग और इंटरनेट ऑफ थिंग्स आदि पर काम करने के लिए साझेदारी की थी।

Web Title : Airtel-Huawei made the first 5G test in India