इलाहाबाद हाई कोर्ट ने योगी सरकार से पूछा अस्पताल में बच्चों की मौत का कारण

लखनऊ: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले में न्यायिक जांच की मांग को लेकर शुक्रवार को इलाहाबाद उच्च न्यायलय इस मामले में दाखिल जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए, जिसमे उत्तर प्रदेश सरकार से जवाब मांगा है कि आखिर बच्चों की मौत हुई कैसे? योगी सरकार इस बात को मानने से इनकार करती रही है कि ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने से बच्चों की मौत हुई.

इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ बेंच ने राज्य सरकार और चिकित्सा शिक्षा निदेशालय को 06 सप्ताह में विस्तृत जवाब देने के आदेश देते हुए 09 अक्टूबर 2017 को सुनवाई की अगली तिथि तय की है. यह आदेश जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस दया शंकर तिवारी की बेंच ने नूतन और रज्य सरकार के महाधिवक्ता राघवेन्द्र प्रताप सिंह तथा चिकित्सा शिक्षा निदेशालय के अधिवक्ता संजय भसीन को सुनने के बाद दिया है.

सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता श्री सिंह ने कहा कि राज्य सरकार इस मामले में सभी संभव कदम उठा रही है और मुख्य सचिव की रिपोर्ट आने के बाद शेष सभी कार्यवाई की जाएगी. इस पर नूतन ने कहा कि राज्य सरकार के अब तक के कार्यों से ऐसा सन्देश गया है कि वे कुछ छिपाना चाहते हैं और कुछ लोगों का बचाव किया जा रहा है, जिससे लगता है कि मुख्य सचिव की जांच एक दिखावा ही होगी.

Web Title : Allahabad High Court asked Yogi Government to cause death of children in hospital