ममता के गढ़ में गरजे अमित शाह, बोले- बांग्लादेश के घुसपैठिये हैं टीएमसी का वोटबैंक

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी अगले साल यानी वर्ष 2019 में होनेवाले लोकसभा चुनाव से पहले कोई नहीं छोड़ना चाहती है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कोलकाता की रैली में ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी एनआरसी का विरोध इसलिए कर रही हैं क्योंकि वो नहीं चाहतीं कि बांग्लादेशी घुसपैठिए असम से निकाले जाएं. उन्होंने आगे कहा कि हमारी रैली के लिए कई तरह के व्यवधान डाले गए, बीजेपी को बंगाल विरोधी बताया गया लेकिन मैं बात दूं कि हम बंगाल नहीं, ममता विरोधी हैं.ममता के गढ़ में गरजे अमित शाह,कहा - BJP सरकार बनाइए, डंके की चोट पर होगा दुर्गा मूर्ति का विसर्जन

कोलकाता के मेयो रोड पर युवा रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ममता सरकार पर भ्रष्टाचार और राज्य के लोगों का अधिकार छीनने के आरोप लगाए. उन्होंने कहा, ” बीजेपी की इस युवा रैली में व्यवधान डालने का काम किया गया, पूरी कोशिश की गई कि बंगाल की जनता ये रैली ना देख पाए. मैं ममता बनर्जी को कहना चाहता हूं कि कान खोल कर सुन लें ये आवाज़ दबाई नहीं जा सकेगी. हम अपनी आवाज बंगाल के लोगों पर पहुंचा कर रहेंगे.

घुसपैठियों को देश में रखना चाहती है टीएमसी

असम के नेशनल सिटीज़न रजिस्टर यानी एनआरसी ड्रॉफ्ट के आने बाद से मचे बवाल पर अमित शाह ने कहा, ” अभी कुछ दिन पहले दिल्ली में संसद के भीतर एनआरसी पर चर्चा हो रही थी. ममता जी ने दिल्ली में एनआरसी का विरोध किया है. आखिर एनआरसी है क्या? दरअसल एनआरसी घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर निकालने की प्रक्रिया है. लेकिन ममता बनर्जी नहीं चाहती कि ये घुसपैठिए जो देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं उन्हें निकाला जाए. क्या बंगाल ये नहीं चाहता कि ये घुसपैठिए निकाले जाएं? ममता बनर्जी बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश में रखना चाहती हैं. हम शरणार्थियों को नहीं बल्कि घुसपैठियों को निकालेंगे.

कांग्रेस भी वोट बैंक की राजनीति के लिए अपना पक्ष इसपर साफ नहीं कर रही है. दोनों को बताना चाहिए कि उन्हें देश की सुरक्षा चाहिए या नहीं, क्या वे चाहते हैं कि यहां बम धमाके होते रहें. ” देश में शरणार्थियों और उनकी नागरिकता विवाद पर अमित शाह ने कहा, ‘ टीएमसी और कांग्रेस को चुनाव से पहले ये भी बताना चाहिए कि पाकिस्तान, बांग्लादेश से आए हिंदू, ईसाई शरणार्थियों को नागरिकता मिलनी चाहिए या नहीं?’

भ्रष्टाचार की सीरिज चला रही ममता सरकार
ममता सरकार ने कार्यकाल पर पर आरोप लगाते हुए अमित शाह ने कहा, ‘ जब से ममता बनर्जी सरकार में आईं हैं उन्होंने भ्रष्टाचार की सीरीज चलाई है. कभी सिंडिकेट कभी मालदा जैसे कई भ्रष्टाचार उनकी सरकार में हुए हैं. राज्य में आए दिन बम और पिस्टल बनाने का कारखाना मिलता है. पहले हम बंगाल में रबिन्द्र संगीत के स्वर सुना करते थे. लेकिन अब आए दिन राज्य में बम धमाकों की आवाजें सुनाई देती हैं.’

बंगाल जीते बिना विजयरथ नहीं रुकेगा
अपनी जीता का दावा करते हुए अमित शाह ने कहा कि ये श्यामा प्रसाद मुखर्जी , विवेकानंद और रामकृष्ण की धरती है. इस धरती पर हमारी जीत होगी. बंगाल में जबतक हमारी सरकार नहीं बनती ये बीजेपी का विजय रथ रुकने वाला नहीं है. बंगाल में अबतक हमारे 65 कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है. मैं बता देता हूं कि मारने वाले कभी हिंसा के दम पर जीत नहीं सके हैं.

Web Title : Amit Shah, in need of caution in Mamta's citadel