आनंदपाल का एनकाउंटर करने वाली टीम को जान का खतरा !

आनंदपाल | File Photo

– पुलिस मुख्यालय ने राज्य सरकार से मांगी सुरक्षा
– एटीएस के एडीजी के पत्र का दिया हवाला, मामला गृह विभाग में लंबित

जयपुर। गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर का मामला एक बार फिर चर्चा में है। पुलिस मुख्यालय ने एनकाउंटर टीम में शामिल रहे कमांडों सोहन सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों की सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग की है। एडीजी एटीएस के पत्र के बाद पुलिस मुख्यालय ने सरकार को एनकाउंटर टीम की सुरक्षा बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है। फिलहाल इस प्रस्ताव पर गृह विभाग में मंथन चल रहा है।

राजस्थान पुलिस के लिए सिर दर्द बन चुके आनंदपाल का 24 जून 2017 को चुरू जिले के मालासर गांव में एनकाउंटर किया गया। हालांकि एनकाउंटर के दौरान गोलियां लगने से कमांडों सोहन सिंह भी घायल हो गया था। 15 सितम्बर को सरकार ने एनकाउंटर करने वाली एसओजी.एटीएस की स्पेशल टीम में शामिल कमांडों सोहन सिंहए एएसपी संजीव भटनागरए एएसपी करण शर्मा व सीआई सूर्यवीर सिंह को अधिकारियों को 24 घंटे सुरक्षा कवर दिए जाने की घोषणा की थी। इसके लिए प्रत्येक अधिकारी.कर्मचारी को दो-दो हथियार बंद सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए गए थे।
मुख्यालय के अनुसार इन अधिकारियों को एक.एक पीएसओ की सुरक्षा दी गई। एडीजी एसओजी एटीएस उमेश मिश्रा ने पिछले दिनों सीबीआई जांच अधिकारी की पूछताछ का हवाला देते हुए सुरक्षा कड़ी करने के लिए पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखा।

रूपेंद्र और देवेंद्र दे रहे है धमकिया
उमेश मिश्रा के मुताबिक सीबीआई डीएसपी सुनील रावत की पूछताछ के दौरान जेल में बंद आनंदपाल के भाई रूपेंद्र और देवेंद्रपाल ने जेल से निकलकर आनंदपाल की मौत का बदला लेने की बात कही है। इस आधार पर मिश्रा ने एनकाउंटर टीम की सुरक्षा कड़ी करने की मांग की हैं। इसके बाद सीआईडी इंटेलीजेंस के एसपी राजेश मीणा ने सरकार को टीम की सुरक्षा के लिए एक.एक पीएसओ उपलब्ध कराने के लिए लिखा है। फिलहाल मामला गृह विभाग में विचाराधीन है।

Web Title : Anandpal threatens to kill team