‘राफेल डील में अनिल अंबानी और पीएम मोदी की पार्टनरशिप’, राहुल गांधी का बड़ा हमला

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील पर एक बार फिर से मोदी सरकार पर हमला बोला है. प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि अनिल अंबानी की कंपनी डील के लायक नहीं थी. उन्होंने कहा कि डील पर अनिल अंबानी और मोदी की पार्टनरशिप रही और पीएम मोदी ने अनिल अंबानी को ये डील दिलवाई. उन्होंने कहा कि दसॉल्‍ट के रुपयों से अंबानी ने जमीन खरीदी और अब जब डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार घिरती दिखाई दे रही है, तो अब दसॉल्‍ट के CEO पीएम मोदी को बचाने के लिए झूठ बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि राफेल डील ओपन एंड शट केस है. इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के सवालों का भी जवाब दिया.

इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि मोदी ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया लेकिन उनके करीबी उद्योगपति बैंकों का पैसा लेकर विदेश भाग चुके हैं और शायद अनिल अंबानी भी भाग सकते हैं। राहुल गांधी ने केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के सरकार के फैसले विरोध में सीबीआई मुख्यालय पर आयोजि प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तारी देने के बाद लोधी रोड स्थित थाने में पत्रकारों के सवाल पर कहा था कि मोदी को किसान और देश के सामान्य नागरिक की चिंता नहीं है बल्कि वह सिर्फ बड़े उद्योगपतियों की मदद करते हैं।

राहुल ने कहा, दसॉल्ट के सीईओ डील के पीछे एचएएल के पास जमीन ना होने और अनिल अंबानी की कंपनी के पास जमीन होने की बात कह रहे हैं। जबकि सच ये है कि अनिल अंबानी की कंपनी में दसॉल्ट ने 284 करोड़ रुपये डाला और उसी पैसे से अनिल अंबानी ने जमीन खरीदी। दसॉल्ट के सीईओ साफ झूठ बोल रहे हैं। वो बताएं नुकसान में चल रही 8 लाख रुपये की कंपनी में 284 करोड़ रुपये दसॉल्ट ने क्यों डाले? राहुल गांंधी ने कहा कि राफेल डील में भ्रष्टाचार हुआ है और वो साफ दिख रहा है। 284 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की पहली किश्त साफ तौर पर साबित हो गयी है।

पीएम जांच से डरते हैं, उन्हें पता है कि जांच होगी तो पकड़े जाएंगे इसीलिये सीबीआई के मुखिया को हटा दिया।  प्रधानमंत्री को रात को नींद नहीं आ रही है, टेंशन में है और पकड़े भी जाएंगे। राहुल ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने ऱाफेल की कीमतों की जानकारी मांगी है। सरकार कह रही है कि नहीं बता सकते, क्योंकि ये गोपनीय है। जबकि फ्रांस के राष्ट्रपति ने साफ तौर पर कहा है कि राफेल की कीमत गोपनीय समझौते का हिस्सा है ही नहीं। ये सब चीजें साबित कर रही हैं कि मोदी ने आम लोगों का पैसा भ्रष्टाचार के जरिए अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया है।

Web Title : 'Anil Ambani and Partnership of PM Modi in Rafael Deal', Rahul Gandhi's big assault