अनूठी अपील : अपनों की मौत से बड़ा मतदान…!

दौसा के पांचोली गांव के लोगों ने बनाया इतिहास

खोज खबर
दौसा। लोकतन्त्र के महाकुम्भ की किसी में इतनी दिवानगी हो सकती है सहज सुनने व देखने में यकीन नहीं होता लेकिन दौसा में सोशल मीडिया पर वायरल एक फोटो ने इस पर सोचने को मजबूर कर दिया। मतदाताओं के लिए अपनों की मौत से भी बड़ा हो सकता है मतदान और मतदान जरूर करने का संदेश। पांचोली गांव के लोगों ने कुछ ऐसा ही इतिहास बना डाला। तीये की बैठक में शव से फूल एकत्रित करने गये इन लोगों ने शव भस्मी को फूलों से सजाया और फिर गुलाल से लिख दिया 6 मई को मतदान अवश्य करें। सदमे और गम से भरे इस स्थल पर लोकतन्त्र के सम्मान का दुनिया में इससे बड़ा कोई उदाहरण नहीं हो सकता।
आखिरी इच्छा की पूर्ति
फोटो वायरल करने वाले शख्स ज्ञानसिंन गुर्जर से जब बात की तो उन का कहना था कि 90 साल के वृद्ध रामेश्वर का देहान्त हो गया और सभी लोग परम्परा के अनुसार यहां फुल (अस्थियां) एकत्रित करने पहुंचे थे। सभी ने इस जगह को मतदान का संदेश देने को इस लिए चुना कि वृद्ध रामेश्वर आखिरी मतदान करना चाहते थे लेकिन नियती को ये मंजूर नहीं था इसलिए उनकी आखिरी इच्छा व मतदान में उन के चले जाने से हुई एक वोट की कमी को पूरा किया जा सके। इस लिए ये संदेश दिया गया जिससे उन की आखिरी इच्छा को पूरा किया
जा सके।

Web Title : appeal for voting by dead person's family in different style in rajasthan