सचिन के पदचिन्हों पर चले अर्जुन, गेंदबाजी ने बनाया हीरो तो बल्ला पकड़ते ही हुए जीरो

नई दिल्ली : क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने श्रीलंका के खिलाफ अंडर-19 क्रिकेट में अपना पहला मैच खेला। उनसे लोगों को बड़ी अपेक्षाएं थीं लेकिन गेंदबाजी में अपने दूसरे ओवर के दौरान पहला विकेट लेने के बाद बल्लेबाजी में वह अपेक्षाकृत प्रदर्शन करने में पूरी तरह नाकाम हो गए। मैच के दौरान अर्जुन अपना स्कोर का खाता नहीं खोल सके और जीरो पर आउट हो गए। बता दें कि दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी अपने पहले ही मैच में बिना खाता खोले मैदान से चले गए थे। साल 1989 में सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के खिलाफ वनडे इंटरनेशनल से अपना डेब्यू किया था। महज दो गेंदें खेलने वाले सचिन वकार युनूस की गेंद पर कैच आउट हुए थे।1st Youth Test: Sachin Tendulkar

पहली पारी के दौरान श्रीलंका ने बल्लेबाजी की थी और इस दौरान अपने दूसरे ओवर के दौरान अर्जुन तेंदुलकर ने अपना विकेट लेने का खाता खोला। उन्होंने मैच के दौरान 11 ओवर डाले। अपनी पारी के दौरान श्रीलंका की टीम ने 244 रन बनाए। इसके बाद भारतीय टीम बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरी। मैच में अर्जुन तेंदुलकर बतौर ऑलराउंडर खेल रहे थे लेकिन वह बल्लेबाजी में अपना खाता भी नहीं खोल सके। उन्होंने 11 गेदों का सामना किया और शॉर्टलेग पर कैच थमा बैठे। अर्जुन से उनके पिता सचिन तेंदुलकर की ही तरह पहले मैच में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही थी लेकिन वह ऐसा करने में नाकाम रहे। arjun and sachin

भारत के अन्य खिलाड़ियों ने अर्जुन की अपेक्षा अच्छा प्रदर्शन किया। भारत ने श्रीलंका के सामने 589 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया। गौरतलब है कि अर्जुन तेंदुलकर के अंडर 19 टीम में चयनित होने के समय भी कई सवाल खड़े हुए थे। कहा जा रहा था कि उनसे अधिक प्रतिभाशाली खिलाड़ी मौजूद होने के बावजूद अर्जुन को टीम में जगह दी गई। हालांकि उनके चयन के पीछे कूच बेहार ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन को वजह बताया गया था। 

इस मैच के बाद से सोशल मीडिया पर अर्जुन तेंदुलकर को खूब ट्रोल किया जा रहा है। एक यूजर ने तो यहां तक ट्वीट में लिखा कि वो शाहरुख खान की आने वाली फिल्म ‘जीरो’ को प्रमोट करने आए थे।

Web Title : Arjuna walks on Tendulkar's footsteps