सुषमा स्वराज के बाद आर्मी चीफ बोले, पहले आतंकवाद पर पाक लगाम लगाए फिर होगी बातचीत

नई दिल्ली: पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमारान खान के बयान पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कभी भी आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं हो सकती। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि भारत अगर दोस्ती की तरफ एक कदम बढ़ाएगा तो हम दो कदम बढ़ाएंगे। इस पर सेना प्रमुख ने कहा है कि पाकिस्तान की बात में विरोधाभास है। उनका बढ़ाया हुआ कदम सकारात्मक होना चाहिए।
सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान ने अपने स्टेट को इस्लामिक स्टेट बना दिया है। पहले पाकिस्तान को हमारी तरह धर्मनिरपेक्ष होना होगा। जब वह अपनी कट्टर सोच से बाहर आकर एक सेकुलर स्टेट बनेगा तब हम उससे किसी भी तरह की बातचीत करेंगे। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद को नहीं रोकता तब तक हम उससे किसी भी तरह की बातचीत नहीं करेंगे।
सेनाप्रमुख ने आगे कहा कि आज भारतीय सेना में महिलाओं की भूमिका बढ़ रही है। लेकिन हम अभी उन्हें फील्ड ऑपरेशन में उतारने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हैं। पश्चिमि देशों में खुलापन वाली सोच है इस लिए वहां महिलाएं और पुरुष साथ में किसी भी ऑपरेशन में शामिल होते हैं।

Web Title : Army chief says after Sushma Swaraj