सबको पीछे छोड़ इस मामले में महेंद्रसिंह धौनी दुनिया के नंबर एक विकेटकीपर बनकर ऐसे जीता हर भारतीय का दिल

नई दिल्ली: भारत ने अपने इंग्लैंड दौरे की शुरुआत बेहतरीन जीत के साथ की. इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी-20 मैच में टीम इंडिया ने 8 विकेट से जीत हासिल की. इस मैच में एक बार फिर से विकेटीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी की स्टंपिंग का कमाल फैन्स को देखने को मिला. कुलदीप यादव और महेंद्र सिंह धोनी की जुगलबंदी ने इंग्लैंड के दो बड़े विकेट लगातार गिराए. मैच में जहां एक ओर कुलदीप यादव अंतरराष्ट्रीय टी-20 में पहले बाएं हाथ के रिस्ट स्पिनर बने, जिन्होंने 24 रन देकर 5 विकेट हासिल किए हैं. वहीं, दूसरी ओर टी-20 में महेंद्र सिंह धोनी ने 33 स्टंपिंग पूरे करके रिकॉर्ड बनाया.सबको पीछे छोड़ इस मामले में दुनिया के नंबर एक विकेटकीपर बने महेंद्र सिंह धौनी

महेंद्र सिंह धोनी के इस स्टंपिंग रिकॉर्ड को पूरा करने में टीम इंडिया के ‘चाइनामैन’ गेंदबाज ने पूरा साथ दिया. कुलदीप यादव की दो गेंदों पर धोनी ने लगातार दो स्टंपिंग की. जॉनी बेरियस्टो और जो रूट दोनों महेंद्र सिंह धोनी का शिकार बने. विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ‘बिजली की रफ्तार’ से स्टंपिंग के लिए पूरी दुनिया में मशहूर हैं, लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ वह एक बार लड़खड़ाते दिखे. ऐसे में धोनी ने अपना होश नहीं खोया और शानदार स्टंपिंग करके हुए एक बार फिर से हर किसी का दिल जीत लिया. धोनी ने इंग्लैंड के स्टार बल्लेबाज जो रूट की स्टंपिंग के साथ एक बार फिर से साबित कर दिया कि उन्हें दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर क्यों कहा जाता है.

कुलदीप यादव इंग्लैंड टीम की पारी का 14वां ओवर कर रहे थे. उन्होंने ओवर की चौथी गेंद पर इंग्लैंड के स्टार बल्लेबाज जो रूट को बीट किया और बॉल सीधे विकेट के पीछे धोनी के पास चली गई. जो रूट इस समय क्रीज से आगे निकल गएं थे. हालांकि, एमएस धोनी गेंद को अच्छे से पकड़ नहीं पाए थे. पहले तो गेंद धोनी की छाती में जा लगी थी, लेकिन इसके बाद गेंद ने धोनी के हाथों में कुछ कलाबाजी खाई.

एक बार को तो ऐसा लगा था कि धोनी के हाथों से गेंद छूट जाएगी, लेकिन धोनी ने खुद को संभालते हुए गेंद को आखिर पकड़ ही लिया. काफी समय रहने के बाद भी जब जो रूट वापस क्रीज में नहीं आ पाए, तो धोनी ने मौके का फायदा उठाकर रूट को स्टंप आउट कर दिया. धोनी की इस स्टंपिंग के वीडियो को फैन्स सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए जमकर तारीफ की है. धोनी की इस स्टंपिंग ने सभी को इंप्रेस किया. सोशल मीडिया पर धोनी की स्टंपिंग की खूब तारीफ की जा रही है. 

बता दें कि 14वें ओवर में कुलदीप यादव के पास हैट्रिक लेने का अवसर था, लेकिन तीसरी और चौथी गेंद को मोइन अली ने डिफेंसिव खेला और इंग्लैंड की सरजमीं पर यादव को हैट्रिक नहीं लेने दी. लेकिन कुलदीप यादव ने शानदार गेंदबाजी की. 3.4 ओवरों में वह केवल 13 रन देकर 5 विकेट ले चुके थे. सचिन तेंदुलकर ने कुलदीप से प्रभावित होकर ट्वीट किया, कुलदीप का शानदार स्पैल, इंग्लैंड के बल्लेबाज कुलदीप की रिस्ट पोजिशन को पढ़ने में नाकाम रहे.

Web Title : Behind everyone, Mahendra Singh Dhoni, the world's number one wicketkeeper, has won the hearts of every Indian.