दिल्ली में परेड की रिहर्सल के दौरान बड़ा हादसा, ध्रुव हेलीकॉप्टर से गिरे सेना के 3 जवान

नई दिल्ली: दिल्ली में आर्मी डे परेड के रिहर्सल के दौरान 2 जवान घायल हो गए हैं. ये हादसा उस वक्त हुआ जब जवान हैलीकॉप्टर से रस्सी के सहारे नीचे उतर रहे थे. इसी दौरान रस्सी टूट गई और हादसा हो गया. ये हादसा 9 जनवरी को रिहर्सल के दौरान हुआ. इस हादसे की जांच के आदेश दे दिये गये हैं. 15 जनवरी को आर्मी डे मनाया जाता है और इसी के लिए दिल्ली कैंट के परेड ग्राउंड में परेड आयोजित की जाती है. इसकी रिहर्सल कई दिन पहले से शुरू हो जाती है. इसी रिहर्सल के दौरान ये हादसा हुआ है.

हालांकि, आर्मी ने किसी को भी गहरी चोट लगने की आशंका से मना किया है. सेना दिवस मनाने की परंपरा भारतीय सेना के पहले कमांडर इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल केएम करियप्पा के सम्मान में 1949 से शुरू की गई. इससे पहले ब्रिटिश मूल के फ्रांसिस बूचर बतौर सेना प्रमुख थे. तब से हर वर्ष सेना के सभी कमांड हेडक्वार्टर और देश की राजधानी दिल्ली में आर्मी परेड और कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. 

इस अवसर पर आयोजित परेड और हथियारों के प्रदर्शन का उद्देश्य दुनिया को अपनी ताकत का एहसास कराना और देश के युवाओं को सेना में शामिल होने के लिए प्रेरित करना है. सेना ने बयान में कहा है कि हेलीकॉप्टर के बूम में आई खराबी से ये हादसा हुआ है. अहम बात ये रही कि सेना के तीनों जवान सुरक्षित हैं. सेना ने बताया कि मामले की जांच जारी है. सेना का ये अभ्यास आर्मी के परेड ग्राउंड में चल रहा था. ऑपरेशन के डेमो के दौरान ही ये हादसा हो गया.

बता दें कि सेना दिवस पर हर साल भारतीय थल सेना उत्सव मनाती है. इस अवसर पर सैनिक कई तरह के करतब भी दिखाते हैं. सेना दिवस हर साल प्रथम फील्ड मार्शल केएम करियप्पा की याद में मनाया जाता है. भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय रक्षा शाखा की ओर से इस संबंध में जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि 1949 में जनरल करियप्पा ने सर फ्रांसिस बूचर से कमांडर इन चीफ का पद ग्रहण किया था. सेना दिवस पर देश के उन बहादुर सैनिकों को याद किया जाता है, जिन्होंने देश की सेवा में अपना जीवन न्योछावर किया.

Web Title : Big tragedy during the parade rehearsal in Delhi