बुमराह-शमी-इशांत की तिकड़ी ने तोड़ डाला वेस्ट इंडीज का रेकॉर्ड

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया में एक दौर में वेस्ट इंडीज फास्ट बोलरों की तूती बोलती थी। एक दौर में माइकल होल्डिंग, मैल्कम मार्श और जोएल गार्नर की आग उगलती बॉलों का सामना करने वाले बल्लेबाज थर-थर कांपते थे। लेकिन वह बीते दौर की बात है- आज फास्ट बोलिंग में टीम इंडिया की धार का कोई सानी नहीं है। बीते एक साल में विदेशों में क्रिकेट खेल रहे भारतीय फास्ट बोलरों ने वेस्ट इंडीज फास्ट बोलरों का 34 साल पुराना रेकॉर्ड तोड़ दिया है। जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी की जोड़ी ने एक कैलेंडर साल में 131 विकेट अपने नाम कर लिए हैं। इस तिकड़ी ने वेस्ट इंडीज की तिकड़ी (मार्श, होल्डिंग और गार्नर) के 1984 में बनाए 130 विकेट के रेकॉर्ड को तोड़ दिया है।जानना चाहते हैं बुमराह के 'सिक्सर पंच' का राज, VIDEO में सुनिए उन्हीं की जुबानी

साल 1984 में वेस्ट इंडीज के इन तीनों फास्ट बोलरों की तिकड़ी ने एक साल में मिलकर 130 विकेट लिए थे। इसके बाद से अब तक किसी भी टीम के तीन फास्ट बोलर मिलकर एक कैलेंडर साल में 130 विकेट का यह आंकड़ा नहीं छू पाए थे। लेकिन इस साल भारतीय तिकड़ी ने इस आंकड़े को पार कर नया रेकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। टीम इंडिया के लिए इस साल जसप्रीत बुमराह ने 9 टेस्ट खेलकर 46 विकेट अपने नाम किए हैं, वहीं उनके दूसरे जोड़ीदार मोहम्मद शमी (12 टेस्ट में) ने भी इतने ही विकेट अपने नाम किए हैं, लेकिन उन्होंने 46 विकेट पूरे करने के लिए बुमराह से 3 टेस्ट ज्यादा खेले हैं। इसके अलावा इशांत शर्मा ने 11 टेस्ट मैच खेलकर 39 विकेट अपने नाम किए।

एक साल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली फास्ट बोलरों की तिकड़ी की बात करें, तो इस मामले में भारत, वेस्ट इंडीज के बाद तीसरे स्थान पर साउथ अफ्रीकी टीम का नाम आता है। साल 2008 में साउथ अफ्रीका के लिए मोर्ने मोर्केल, मकाया नितिनी और डेल स्टेन की तिकड़ी ने मिलकर 124 विकेट अपने नाम किए थे।
Web Title : Bumrah-Shami-Ishant's breakthrough broke West Indies record