केंद्र सरकार के खिलाफ चंद्रबाबू नायडू का धरना, समर्थन करने पहुंचे राहुल गांधी

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगूदेशम पार्टी (TDP) के अध्यक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू आज यानी सोमवार को दिल्ली में एक दिन के उपवास पर बैठे हैं. वह आंध्रप्रदेश को स्पेशल राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं. सोमवार सुबह उन्होंने राजघाट जाकर बापू की समाधि को श्रद्धांजलि दी और अपना उपवास शुरू किया. चंद्रबाबू नायडू के धरने को समर्थन देने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी यहां पहुंचे हैं. इस दौरान उन्होंने नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि वो जहां जाते हैं झूठ बोलते हैं.

नई दिल्लीः तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर आज दिल्ली में एक दिन का अनशन कर रहे है. आज सुबह अपना अनशन शुरू करने से पहले चंद्रबाबू नायडू ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश भवन पहुंचे और वहां उन्होंने डॉ बीआर आंबेडकर की प्रतिमा पर नमन किया और एक दिन की अपनी भूख हड़ताल शुरू की.चंद्रबाबू नायडू से मिले राहुल गांधी, कहा- PM जहां जाते हैं झूठ बोलते हैं

चंद्रबाबू नायडू को समर्थन देने वाले नेताओं में सबसे पहले जम्मू कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला पहुंचे. अब्दुल्ला के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी नायडू के समर्थन में पहुंचे उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं आंध्र प्रदेश की जनता के साथ खड़ा हूं, किस तरह के प्रधानमंत्री है नरेंद्र मोदी? पीएम ने आंध्र प्रदेश के लोगों से किया वादा पूरा नहीं किया. मिस्टर मोदी जहां भी जाते हैं लोगों से झूठ बोलते है, अब उनकी कोई विश्वसनीयता नहीं बची है.’ Image result for चंद्रबाबू नायडू समर्थन करने पहुंचे राहुल गांधी

नायडू के इस धरने को विपक्षी दलों का समर्थन मिल रहा है। जहां फारुख अब्दुल्ला धरने में शामिल हुए हैं वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी यूपी रवाना होने से पहले धरना स्थल पहुंचे हैं। दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस धरने को समर्थन दिया है।

नायडू सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक अनशन पर रहेंगे. आंध्र भवन में नायडू ने कहा, ‘अगर आप हमारी मांगे नहीं मानेंगे तो हम भली भांति जानते हैं कि हमारी मांगे कैसे पूरी होंगी. यह आंध्र के लोगों के आत्मसम्मान का सवाल है, जब  भी हमारे आत्मसम्मान पर हमला हुआ है हमने करारा जवाब दिया है, मैं इस सरकार और खासतौर से पीएम मोदी से कहना चाहता हूं कि वह व्यक्तिगत हमले करना बंद करें.’

आम चुनाव से पहले टीडीपी प्रमुख बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने में लगे हैं. बीजेपी विरोधी गठबंधन के लिए पिछले तीन महीने में वह कई बैठकें कर चुके हैं. आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर टीडीपी मार्च 2018 में राजग सरकार से अलग हो गया था. पार्टी ने नरेन्द्र मोदी सरकार पर पोलावरम सिंचाई परियोजना, कडप्पा इस्पात संयंत्र और निर्माणाधीन अल्ट्रा-आधुनिक राज्य की राजधानी अमरावती के लिए धन नहीं देने का आरोप भी लगाया है. आंध्र प्रदेश को दो जून 2014 को दो हिस्सों में बांट दिया गया था. हैदराबाद नए राज्य तेलंगाना की राजधानी बन गया.

नायडू मंगलवार को वह राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे. मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना दे रहे है. राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे. इससे पहले रविवार को पीएम मोदो ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में रैली करते हुए चंद्रबाबू नायडू पर जमकर हमला किया था.

उल्लेखनीय है कि अक्टूबर 2013 में भी नायडू अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ चुके हैं। तब उनकी मांग थी कि आंध्र प्रदेश का पुनर्गठन होता है तो दोनों राज्यों के साथ न्याय किया जाना चाहिए।

Web Title : Chandrababu Naidu's arrest against central government