देश की जीडीपी में माहेश्वरी समाज को प्रमुख योगदान, माहेश्वरी महाकुंभ में बोले सीएम फडनवीस

-माहेश्वरी महाकुंभ: लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवंद्र फडनवीस सहित कई मंत्रियों ने की शिरकत

जोधपुर। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवंद्र फडनवीस ने कहा कि देश की जीडीपी में माहेश्वरी समाज का बहुत बड़ा योगदान है। इस समाज ने दुनिया में जिस तरह से तरक्की है वह अनुकरणीय है। इस समाज के लोग जिस गांव और जिस देश में जाते हैं वहां दूध में शक्कर की तरह धुल जाते हैं। वे रविवार को जोधपुर के चामी पोलो मैदान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय माहेश्वरी महाधिवेश व ग्लोबल एक्सपो में बतौर मुख्य अतिथि उद्बोधन दे रहे थे। उन्होंने कहा कि माहेश्वरी समाज के लोग हर जगह दिखाई देंगे लेकिन पुलिस की फाइलों में इस समाज का नाम कभी दिखाई नहीं देगा। यह समाज व्यापार, प्यार, भ्रातृत्व व सौहार्द्र में विश्वास रखता है, जो इनकी प्रमुख ताकत है।

दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी बनेगा देश
उन्होंने कहा कि जिस तेजी के साथ हमारे देश का विकास हो रहा है उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि 10-12 साल में हमारा देश, दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यस्था बनेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश दिन दूनी-रात चौगुनी गति से तरक्की कर रहा है। इसकी पुष्टि विश्व की सारी प्रतिष्ठित एजेंसियां भी कर रही हैं। यह केंद्र सरकार की नीतियों का ही असर है कि अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर भारत नित नए रिकॉर्ड कायम कर रहा है।

हाल में फ्रांस को पछाड़ कर भारत विश्व की छठी बड़ी अर्थव्यवस्था बना है। उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी तरूणायी भारत में बसती है। 15-20 साल बाद जब अमेरिका में औसत आयु 44, चीन में 42, जापान में 45 वर्ष वर्ष सहित3 कई राष्ट्रों की औसत आयु 40 से अधिक होगी तब हमारे देश की औसत आयु 29 वर्ष होगी। इस दौरान दुनिया के सभी विकसित देशों की अर्थ व्यवस्था मानव संसाधनों के लिए झूझ रही होंगी तब भारत में मानव संस्थान की भरमार रहेगी, यही उचित अवसर

भारत को सिरमौर बनाएगा।
चौथी आद्योगिक क्रांति की ओर भारत
उन्होंने हम चौथी औद्योगिक क्रांति की ओर जा रहे हैं। हमने सूचना प्रोद्योगिकी में सबसे बड़ी भूमिका अदा की है। उसी प्रकार चौथी औद्योगिक क्रांति में अपनी भूमिका निभा सकते हैं। हमारे प्रधानमंत्री ने भारत को फिर से विश्व गुरु बनाने की परिकल्पना की है। उनकी इस परिकल्पना को साकार करने के लिए हमें उस ओर चलना होगा। उन्होंने कहा कि आज के दौर में युवाओं का अवसर देने की आवश्यकता है। इससे स्टार्टअप तैयार होते हैं, उसे तैयार करने के लिए जिस प्रकार की पूंजी की आवश्यकता पड़ती है, माहेश्वरी समाज इसे लिए हमेशा उसके पीछे खड़ा है। आयोजकों ने माहेश्वरी ग्लोबल एक्सपो में स्टार्टअप्स के लिए बहुत बड़ा प्लेटफॉर्म तैयार किया है। इसमें शामिल 200 स्टार्टअप्स में कोई हो सकता है जो नेतृत्व करेगा। उन्होंने कहा कि माहेश्वरी महाकुंभ में समाज के बदलते चरित्र व चित्र की परिकल्पना देखने को मिली है जिसे हमे साकार करना है। माहेश्वरी समाज परिवार की संकल्पना से जीता है, बुजुर्गों को को जो यहां सम्मान दिया गया वाकई काबिले तारीफ है।

वसुधैव कुटुंबकम की सिद्धांत पर चलने वाला समाज
लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि माहेश्वरी समाज हमेशा वसुधैव कुटुंबकम के सिद्धांत पर चलने वाला समाज है। इस समाज को साक्षात शिव का आशीर्वाद प्राप्त है। यह समाज बहुजन हितायÑ बहुजन सुखाय की बजाय सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय की सोच पर चलने वाला समाज है। ये समाज व्यपार के साथ साथ न्यास से लेकर देश पर मर-मिटने को तैयार है, इस समाज में देश भक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी है। ऐसे सम्मेलनों से सामजिक ताकत व एकता का आभास होता है। स्टार्टअप व स्किल इंडिया को काम केवल प्रधानमंत्री का नहीं बल्कि पूरे देश का काम है यही प्रजातंत्र है। प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप, स्किल इंडिया सहित कई योजनाओं के रूप में उन्होंने हमे एक विजन दिया है। इसे साकार करना केवल सरकार का ही नहीं हम सब कर्तव्य ।

दुनिया के हर क्षेत्र में समाज की भागीदारी
केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत ने कहा कि इस समाज की जितनी तारीफ की जाए कम है। माहेश्वरी बनना है तो देना आना चाहिए। कमाने वाले बहुत है, लेकिन जो देने वाले है वे माहेश्वरी है। जितना सेवा कार्य देश के माहेश्वरी समाज ने किया वो किसी ने नहीं किया। माहेश्वरी समाज में संकुचित विचारधारा नहीं है ये समाज सबके भले की सोचता है। इस समाज का दूसरा नाम ही सेवा है। जिस समाज ने सेवा करना जान लिया समझों वह माहेश्वरी बन गया। माहेश्वरी समाज ने नौकरी मांगी नहीं है, रोजगार दिया ही दिया है। उन्होंने कहा कि दुनिया के हर क्षेत्र में महोश्वरी समाज की भागीदारी है। समारोह के आरंभ में अतिथियों ने भगवान शिव व भारत मात की तस्वीर के समक्ष पुष्प अर्पित कर समारोह का विधिवत आगाज किया। अखिल भारतवर्शीय माहेश्वरी महासभा के सभापति श्यामसुंदर सोनी ने स्वागत उद्बोधन दिया। आभार महामंत्री व मुख्य समन्वयक संदीप काबरा ने जताया। महापौर घनश्याम ओझा, उपमहापौर देवंद्र सोलेचा, ओम सोनी, मदन टावरी, बीएल सोनी, आनंद राठी, एसएस काबरा, सत्यनारायण धूत, श्याम धूत, गोपालकिशन मालानी, आरसी लाहोटी, रामपाल सोनी समारोह में बतौर अतिथि शरीक हुए।

इनका हुआ सम्मान
समारोह के दौरान लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, मुख्यमंत्री देवंद्र फडनवीस, केंद्रीय कृषि मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत सहित अतिथियों ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले माहेश्वरी समाज के होेनहारों को स्मृति चिह्न व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। कैप्टन आदित्य सोनी, मेजर आकाश तापडिया, सरोद वादक बसंत काबरा, वैज्ञानिक भावना संकेत भूतडा, बॉक्सर चंद्रिका राजे महेश, मैजिशियन दर्श मालानी, एथलेटिक्स दिनेश माहेश्वरी, आर्टिस्ट जयश्री बाहेती, ट्रथॉलोन लीना बलदवा, लेखक मदन गोपाल लड्ढा, मिस नेपाल2017 निकिता चांडक, टेनिस प्लेयर परीक्षित सोमानी, पालिटिशियन पवन कुमार शारडा, ट्री प्लानेंट प्रजक्ता गिरीधारी काले, क्यूरेटर एंड प्रमोटर प्रशन्न लाहोटी, स्कॉलर प्रार्थना राजेंद्र राठी, शूटिंग प्रियांश्री गटनी, स्कैटिंग रिया साबू, एयरोबिक्स रजत किरण मनिहार, आर्ट एंड कल्चर राम एंड ललिता कोगटा, एग्रोनोमिस्ट रतनलाल डागा, ड्रमर रवि जखेटिया पायलॉट संगीता काबरा बांगड, साइंटिस्ट श्याम झंवर आॅरगेनिक फूड प्रोडक्ट सिद्धि करनानी, क्रिकेटर स्मृति मानधना, शौर्य सम्मान पोस्थेमायू सुप्रित राठी, माउंटेनियर वेंकटेश माहेश्वरी को सम्मानित किया गया। समाज सेवा के के लिए मुरलीधर चांडक, रामस्वरूप मूंदड़ा, श्रीनिवास तापड़िया, सेवाराम धूत, राखी अगल, मुरलीधर जाजू व दामोदरलाल बंग का सम्मान किया गया।

Web Title : CM Fadnavis, spoken in Maheshwari Mahakumbh