गुर्जर आंदोलन हिंसा पर बोले सीएम गहलोत- हम मदद करने के लिए तैयार, केंद्र के सामने रखें अपनी मांग

जयपुर: राजस्थान में चल रहा गुर्जर आंदोलन अब और भी आक्रामक हो गया है. गुर्जरों के लिए 5 फीसदी आरक्षण के लिए किया जा रहा ये आंदोलन पिछले तीन दिनों से जारी है. इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि सरकार मदद करने के लिए तैयार है. लेकिन उन्हें अपनी मांग केंद्र के सामने रखनी होंगी. ये केंद्र सरकार के ऊपर निर्भर करता है कि वो क्या फैसला लेगी.

अशोक गहलोत ने आगे कहा, इस आंदोनल की वजह से ट्रेनों को रद्द और डायवर्ट भी किया गया. ये किसका नुकसान है? इससे देश नुकसान में है. आखिर प्रोटेस्ट करने के पीछे पॉइंट किया है. गहलोत ने कहा, मैं अपील करता हूं कि सरकार से बातचीत करें. मैं विश्वास दिलाता हूं कि हमसे जो हो पाएगा, हम वो करेंगे. वहीं दूसरी तरफ इस आंदोलन पर गुर्जर नेता किरोरी सिंह बैंसला ने कहा, ‘जब तक हमें 5% आरक्षण नहीं मिल जाता तब तक आंदोलन नहीं रुकेगा. यह मेरा व्यक्तिगत अनुरोध है कि सरकार राजस्थान के लोगों को भड़काने के लिए कुछ भी न करे, लोग मेरे निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं. इसे शांतिपूर्ण तरीके से हल करें. जितना पहले उतना बेहतर.’

आंदोलनकारी और पुलिस के बीच हुई झड़प

सवाई माधोपुर में गुर्जर समुदाय की तरफ से 5 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर लोग विरोध कर रहे हैं. विरोध में वो रेल का रास्ता रोकने के लिए पटरियों पर धरना दे रहे हैं. इसके पहले आंदोलनकारी दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग की पटरियों पर बैठे थे. इसी में धौलपुर के दिल्ली-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-3 को जाम करने के दौरान आंदोलनकारियों और पुलिसकर्मियों में झड़प हो गई. इसके बाद भीड़ ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी हवाई फायरिंग शुरू कर दी. इससे यहां अफरातफरी का माहौल हो गया. भीड़ ने तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया. मौके पर तनाव के हालात बने हुए हैं.

Web Title : CM Gehlot speaks on violence in Gurgaar