राष्ट्रमंडल खेल: मैरी कॉम ने जड़ा ‘गोल्डन पंच’, पदकों की संख्या हुई 43

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा जारी है. एक बार फिर से देश का परचम लहराते हुए मुक्केबाज मैरी कॉम ने भारत को एक और गोल्ड दिला दिया है. मैरीकॉम ने 48 किलोग्राम वर्ग के मुक्केबाजी प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता. इस तरह से देखा जाए तो भारत की झोली में अब तक 18 स्वर्ण पदक आ चुके हैं.

मैरी कॉम ने शनिवार को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है.  इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया.

मैरी कॉम ने पहले राउंड में सब्र दिखाया और मौकों का इंतजार किया. उन्हें मौके भी मिले जिसे उन्होंन अपने पंचों से बखूबी भुनाया. मैरी कॉम अपने बाएं जैब का अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं. मैरी कॉर्म धीरे-धीरे आक्रामक हो रही थीं.

दूसरे राउंड में मैरी कॉम ने अपना अंदाज जारी रखा. वहीं क्रिस्टिना कोशिश तो कर रहीं थी लेकिन उनके पंच चूक रहे थे. वहीं मैरी कॉम मुकबला आगे बढ़ने के साथ और आक्रामक हो गईं और अब जैब के साथ अपने लेफ्ट हुक का भी अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं. अब वह अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए क्रिस्टिना पर दबाव बनाए हुए थीं.

तीसरे और अंतिम राउंड में क्रिस्टिना भी आक्रामक हो गई थीं और पांच बार की विश्व चैम्पियन को अच्छी टक्कर दे रही थीं, लेकिन मैरी कॉम ने अपना डिफेंस भी मजबूत रखते हुए जीत हासिल की.

बता दें कि वह इससे पहले कॉमनवेल्थ गेम्स में कभी कोई पदक नहीं जीत पाई थीं. मैरीकॉम के इस शानदार प्रदर्शन के बाद भारत के खाते में अब 18 गोल्ड आ गए हैं. वहीं 11 सिल्वर और 14 ब्रॉन्ज मेडल भी आ गए हैं. इस तरह कुल पदकों की संख्या अब 43 हो गई है

Web Title : Commonwealth Games: Mary Kom launches 'Golden Punch'