पूर्व मुख्य न्यायाधीश ठगी के शिकार

- आनलाइन हैकिंग के जरिए ठग लिए गए 1 लाख रुपए

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड प्रधान न्यायाधीश आर. एम.लोढ़ा साइबर हैकिंग का शिकार हो गए हैं। रिटायर्ड सुप्रीम कोर्ट जज बीपी सिंह का ईमेल अकाउंट हैक कर हैकर्स ने मेल के जरिए जस्टिस लोढ़ा से एक लाख रुपए की ठगी की। जस्टिस सिंह के मेल अकाउंट से मेडिकल इमरजेंसी के नाम पर मदद मांगी गई थी जिसके बाद जस्टिस लोढ़ा ने 50 हजार की दो किश्तों में एक लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए।लोढ़ा ने 31 मई को दिल्ली के मालवीय नगर पुलिस थाने में अपने शिकायत में कहा कि जज बीपी सिंह से उनका मेल के जरिए लगातार संवाद होता रहा है। 19 अप्रैल को सुबह 1 बजकर 40 मिनट पर उन्हें जस्टिस सिंह का एक मेल मिला जिसे उन्होंने 3 बजकर 30 मिनट पर पढ़। मेल में मेडिकल इमरजेंसी के नाम पर उनसे तुरंत पैसों की मदद मांगी गई। साथ में ये भी लिखा गया कि फोन पर उनकी उपलब्धि नहीं होने के कारण मेल से ही वो संवाद करें।
राजस्थान में भी जज के रूप में किया है काम
जस्टिस लोढ़ा को उनके साथ हुई ठगी का उस वक्त पता चला जब जस्टिस सिंह ने एक दिन कहा कि उनका ईमेल अकाउंट हैक हो गया है और उनके कई रिश्तेदारों से उनके मेल अकाउंट से पैसे मांगे गए। पुलिस अब इस मामले की जांच कर रही है। बता दें कि 69 साल के लोढ़ा भारत के 41वें चीफ जस्टिस रहे हैं। उन्हें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नियुक्त किया था। वह पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस भी रहे हैं। उन्होंने राजस्थान और बॉम्बे हाईकोर्ट में भी जज के रूप में काम किया है।

Web Title : cyber crime with ex chief justice of supreme court RM lodha