बाड़मेर: प्रदेश में सोमवार से  विधुत कर्मी अनिश्चित काल के लिए हड़ताल पर जा रहे हैं जिसको लेकर प्रत्येक कार्मिक ने जिला कलक्टर को छुट्टी की अर्जी लगाई है। सरकार से विभिन्न लंबित मांगों लेकर तकनीकि कर्मचारी एवं अभियंता सामुहिक छुट्टी पर रहेंगे, प्रदेश भर में सभी कार्मिकों के एक साथ छुट्टी पर जाने से आमजन की जीवनशैली पर बड़ा असर पड़ सकता है, वहीं देश की सुरक्षा के लिए भारत पाक की सीमा पर लगी फ्लड लाइटों के लिए विधुत आपूर्ति लड़खड़ा सकती है जिससे निपटने के लिए बीएसएफ के जनरेटर एकमात्र विकल्प रहेगा।

प्रदेश में करीबन 40 हजार विधुतकर्मी सामुहिक अवकाश पर रहेंगे वहीं बाड़मेर में वितरण निगम में एक हजार, प्रसारण निगम एवं उत्पादन निगम में 115 के करीब कार्मिक सामूहिक अवकाश पर जयपुर कूच करेंगे, हालांकि सप्लाई बंद नहीं कर रहे हैं, लेकिन कोई फॉल्ट या तकनीकि प्रॉब्लम हुई तो उसे दुरस्त करने वाला कोई नहीं रहेगा, अगर ऐसी स्थिति होती है तो हड़ताल खत्म होने तक इंतजार ही करना पड़ेगा। जिले में भारत पाक की सीमा पर लगी फ्लड लाईट की सप्लाई में कहीं तकीनीकी समस्या होती है तो उसे ठीक करने वाला कोई विभागीय कार्मिक नहीं रहेगा, हालांकि सीमा पर रोशनी के लिए बीएसएफ की और से जनरेटर की सुविधा पहले से है उससे काम चल सकता है, हजारों किसानों एवं लाखों उपभोक्ताओं को कार्मिकों की हड़ताल से होने वाली समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

लंबी लाइनों में रहती है दिक्कत
जिले में विधुत की लंबी लाइनें हैं एवं तेज आंधियां चलती है जिससे सामान्य दिनों में भी लाइनें फॉल्ट हो जाती है, फॉल्ट ढूंढने में भी विभाग के कर्मचारियों को दो दो दीन लग जाते हैं, ऐसे में कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से स्थिति विकट हो सकती है।