5 राज्यों के एग्जिट पोल्स: यही परिणाम रहे, तो 2019 के पहले कांग्रेस को मिलेगा ‘टॉनिक’

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के बाद शुक्रवार को आए एग्जिट पोल्स से बहुत मिले-जुले संकेत मिले हैं। लोकसभा चुनाव से पहले इन राज्यों में विजय पताका लहराने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी है। ऐसे में ये नतीजे 2019 के चुनाव की दिशा और जनता का मिजाज भी सामने रखेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनावी राज्यों में जमकर प्रचार किया था। अब यह समझना महत्वपूर्ण है कि अगर 11 दिसंबर को इसी तरह से नतीजे आते हैं तो उसके संकेत, प्रभाव अैर असर क्या होंगे।

नई दिल्ली: पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद अब नतीजों से पहले आये एग्जिट पोल के अनुमानों ने सियासी दलों की धड़कन बढ़ा दी है. शुक्रवार शाम जारी एग्जिट पोल के मुताबिक मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में भाजपा व कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर का अनुमान है, जबकि राजस्थान में कांग्रेस बहुमत हासिल कर सकती है. एग्जिट पोल में यह भी अनुमान लगाया गया है कि तेलंगाना में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सत्ता में कायम रहेगी. वैसे 11 दिसंबर को मतगणना के बाद ही पता चलेगा कि कहां किस दल की सरकार बनेगी.

राजनीति के जानकारों की मानें तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए पहली बार एग्जिट पोल्स में भाजपा के सामने बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद जतायी गयी है. यदि  एग्जिट पोल्स के अनुसार 11 दिसंबर को चुनाव परिणाम आते हैं तो राहुल गांधी को 2019 के लोकसभा चुनाव के ठीक पहले सफलता का टॉनिक मिलेगा. यदि कांग्रेस सफल रही तो आम चुनाव में वह राहुल गांधी के नेतृत्व में ताल ठोककर मैदान में उतरेगी. जानकारों की मानें तो 2019 के चुनाव से पहले राहुल स्थापित होते हैं तो विपक्षी दलों के बीच उनकी स्वीकार्यता बढ़ेगी.

मप्र का हाल

230 सदस्यीय मप्र विधानसभा में  रिपब्लिक टीवी – जन की बात ने भाजपा को 108 – 128 सीटें और कांग्रेस को 95 – 115 सीटें दी हैं. वहीं, इंडिया टुडे – एक्सिस के मुताबिक भाजपा को 102 – 120 सीटें, जबकि कांग्रेस को 104 – 122 सीटें मिल सकती हैं. हालांकि, टाइम्स नाऊ – सीएनएक्स एग्जिट पोल में मप्र में भाजपा को बहुमत हासिल होने का अनुमान लगाया है. इसने भाजपा को 126 सीटें, जबकि कांग्रेस को 89 सीटें दी है. दूसरी ओर एबीपी न्यूज एग्जिट पोल के मुताबिक कांग्रेस 126 सीटों पर जीत दर्ज कर बहुमत हासिल कर सकती है. इसके मुताबिक भाजपा को 94 सीटें मिलेंगी. हालांकि, टुडेज चाणक्य ने एमपी में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत का अनुमान जताया है. इसके मुताबिक कांग्रेस को 125, भाजपा  को 103 सीटें मिल सकती हैं.

छत्तीसगढ़ का हाल
छत्तीसगढ़ की 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए रिपब्लिक- सी वोटर के एग्जिट पोल में भाजपा को 35 – 43 सीटें और कांग्रेस को 40- 50 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है. वहीं, टुडेज चाणक्य ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 50 सीटें, भाजपा को 36 और अन्य के खाते में चार सीटें जाने के संकेत दिये हैं. हालांकि, टाइम्स नाऊ – सीएनएक्स ने छत्तीसगढ़ में भाजपा को साधारण बहुमत देते हुए कहा कि यह 46 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है, जबकि विपक्षी कांग्रेस के 35 सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया है. एबीपी न्यूज ने कहा कि भाजपा 52 सीटों पर, जबकि कांग्रेस 35 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है. वहीं, इंडिया टुडे – एक्सिस ने अनुमान लगाया है कि 55 – 65 सीटों पर जीत हासिल कर कांग्रेस छत्तीसगढ़ में सीएम रमन सिंह के शासन पर विराम लगा सकती है. इसके मुताबिक भाजपा 21 – 31 सीटों तक सिमट जायेगी. सभी एग्जिट पोल में कहा गया है कि पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जोगी) और बसपा क्रमश: तीन और आठ सीटें जीत सकती हैं. इससे उन्हें त्रिशंकु विधानसभा बनने की स्थिति में किंग मेकर के तौर पर उभरने का मौका मिल सकता है.

राजस्थान का हाल

ज्यादातर एग्जिट पोल में यह अनुमान लगाया गया है कि राजस्थान में कांग्रेस सत्ता में लौट सकती है. इंडिया टुडे – एक्सिस के मुताबिक कांग्रेस राजस्थान विधानसभा की 199 सीटों में 119-141 सीटें जीत सकती है. वहीं, भाजपा को 55-72 सीटें मिल सकती है. टाइम्स नाऊ – सीएनएक्स के अनुमानों के मुताबिक कांग्रेस को 105 सीटें, जबकि भाजपा को 85 सीटें मिल सकती है. हालांकि, रिपब्लिक टीवी – जन की बात के अनुमानों में दोनों दलों के बीच कांटे की टक्कर रहने का अनुमान लगाया गया है. इसने कांग्रेस को 81-101 और भाजपा को 83-103 सीटें दी है. राजस्थान में भले ही वसुंधरा के खिलाफ लोगों की नाराजगी खुलकर दिख रही थी लेकिन एमपी में शिवराज सिंह की लोकप्रियता बरकरार है। अगर एमपी में बीजेपी असफल होती है तो उसका यही संदेश है कि लोगों में बदलाव की चाहत लोकप्रियता और कई जनकल्याणकारी योजनाओं पर भारी पड़ी। तीनों राज्यों में बीजेपी को इसका सामना भी करना पड़ा और यही एग्जिट पोल्स में कांग्रेस के पक्ष में जाता दिख रहा है।

तेलंगाना का हाल
तेलंगाना को लेकर एग्जिट पोल में इस बारे में सर्वसम्मति है कि समय से पहले चुनाव कराने का टीआरएस प्रमुख व मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव का दाव उनके लिए फायदेमंद रहने वाला है. रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाऊ के अनुमान के मुताबिक 119 सदस्यीय राज्य विधानसभा में टीआरएस को क्रमश: 50- 65 और 66 सीटें मिल सकती हैं. टीवी 9 तेलुगू और इंडिया टूडे के अनुमानों के मुताबिक यह आंकड़ा क्रमश 75-85 और 75-91 रह सकता है. हालांकि, कुछ एग्जिट पोल में टीआरएस और कांग्रेस- टीडीपी गठजोड़ के बीच कांटे की टक्कर रहने का अनुमान लगाया गया है.

मिजोरम का हाल
वहीं, पूर्वोत्तर राज्य  मिजोरम में मिजो नैशनल फ्रंट (एमएनएफ ) को 18, कांग्रेस को 16 और अन्य को छह सीटें मिलने का अनुमान है. राज्य में अभी कांग्रेस की सरकार है. यह पूर्वोत्तर का इकलौता राज्य है, जहां कांग्रेस की सरकार है.

बीजेपी का जवाब क्या राम मंदिर होगा?
अब तक बीजेपी के लोग विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने की बात करते रहे हैं और लोकसभा चुनाव में इसी पर लड़ने की बात कहते हैं। हालांकि एग्जिट पोल्स सही रहा तो बीजेपी को अपने लिए नया अजेंडा तलाशना होगा। ऐसे में बीजेपी क्या फिर से राममंदिर पर ही उम्मीद करेगी और फिर हिंदुत्व का बिगुल बजाएगी, 11 दिसंबर को जवाब मिल जाएगा। राम मंदिर के लिए कानून पर भी उसका रुख सामने आ सकता है। एग्जिट पोल्स के हिसाब से ही नतीजे आए तो सरकार का स्टैंड बदल सकता है।

Web Title : Exit Polls of 5 states: That is the result, if the Congress will get 'Tonic' before 2019