युवक को सीजरों के खिलाफ शिकायत करना पड़ा महंगा; तलवार से हमला कर किए फायर, शहर में दशहत

जोधपुर। प्रदेश का सबसे शांत कहा जाने वाला जोधपुर शहर एक बार फिर फायरिंग से दहल गया है। पिछले साल रंगदारी को लेकर हुई फायरिंग की घटनाओं के बाद अब एक बार फिर यहां फायरिंग हुई है। इस बार फाइनेंस कंपनियों की तरफ से ऋण वसूली करने वाले गुर्गों (सीजर) के खिलाफ शिकायत करने पर एक युवक पर फायरिंग कर उसे जान से मारने की कोशिश की गई। हमलावरों ने उस पर तलवार से हमला कर चार फायर किए। एक गोली जांघ में और दूसरी हाथ व खाक के बीच से छू कर निकल गई। गंभीर रूप से घायल होने पर उसे मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बोरानाडा थाना पुलिस हमलावरों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस ने फाइनेंस कंपनी और सीजरों की पहचान की है।

बताया गया है कि गाड़ी की किश्त बकाया होने को लेकर यह हमला किया गया। इसमें समझौता और समझाइश करवाने वाला युवक शिकार हुआ है। बोरानाडा पुलिस ने इस बारे में युवक के पर्चा बयान पर मामला दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि फाइनेंस कंपनियों के लिए ऋण वसूली का काम करने वाले कुछ युवकों के एक गिरोह ने तीन दिन पूर्व ऋण वसूली के नाम पर किसी व्यक्ति का ट्रोला उठा लिया। इस पर पाल गांव निवासी राजूराम (27) पुत्र केसाराम देवासी ने समझौते का प्रयास किया लेकिन समझौता नहीं होने पर राजू देवासी ने अपने रिश्तेदार से पुलिस में मामला दर्ज करवाने भेज दिया। इस कारण सीजर गुट के लोग राजू से खफा हो गए।

गुरुवार सुबह राजू देवासी डीपीएस चौराहे पर स्थित एक ढाबे पर बैठकर चाय पी रहा था। इस दौरान सीजर गिरोह के कुछ युवक एक कार में सवार होकर वहां पहुंचे और उन्होंने राजू को घेर कर उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। बचने के लिए राजू वहां से भागा लेकिन थोड़ी दूरी पर हमलावरों ने उसे पकड़ लिया। उन्होंने तलवार से हमला कर उसे जान से मारने का प्रयास किया। इसमें विफल रहने पर उन्होंने राजू पर चार फायर किए। इनमें से एक गोली उसकी जांघ में लगी। मौके पर भीड़ जमा होने के कारण हमलावर युवक वहां से भाग निकले। गंभीर रूप से घायल राजू को मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है।

हमलावरों की तलाश
सूचना मिलने पर सहायक पुलिस आयुक्त सिमरथाराम व बोरानाडा थाना प्रभारी मुकुट बिहारी, चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थानाधिकारी भंवरलाल वैष्णव आदि घटनास्थल व अस्पताल पहुंचे और मामले की जानकारी लेकर हमलावरों की तलाश के प्रयास शुरू किए। फायरिंग करने वालों में दिलीप सिंह, सुरेन्द्र सिंह, राजू जाणी आदि बताए गए है। फायरिंग के बाद हमलावर काले रंग की स्विफ्ट कार में सांगरिया फांटा की तरफ भाग निकले। पुलिस ने जिले में नाकाबंदी करवाई और गुड़ा विश्नोइयान तक हमलावर का पीछा होता रहा लेकिन इसके बाद वे गायब हो गए जिनकी तलाश की जा रही है।

यह बताया कारण
दरअसल आखलिया चौराहा स्थित एक फाइनेंस कंपनी से ऋण लेकर ट्रोला खरीदा गया था। इस ट्रोला खरीद की किश्त बकाया चल रही थी। इसको लेकर दो तीन दिन पहले समझाइश करवाने वाले राजू देवासी व फाइनेंस कंपनी के महेंद्र देवासी से बोलचाल हुई थी। इस वजह से यह हमला होना आंरभिक तौर पर सामने आया है।

.. इधर घर के बाहर फायरिंग, दो राउंड गोली चलाई
कुड़ी भगतासनी थाना क्षेत्र में गुढ़ा विश्नोइयान गांव में मंगलवार रात को बदमाशों ने एक परिवार पर हमला करने के साथ गोली चलाई। इससे परिवार दहशत में है। पुलिस में इसकी बुधवार को रिपोर्ट दी गई। हमलावर फरार बताए गए है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस ने हत्या प्रयास में मामला दर्ज किया है।

गुढ़ा विश्नोइयान निवासी मांगीलाल पुत्र छोगाराम विश्नोई ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि नौ अक्टूबर की रात को वह परिवार सहित घर पर था। तब एक बोलेरो कैंपर में धर्मेंद्र पुत्र घेवराराम विश्नोई, सुरेश बाबल उर्फ सुपा, भजनलाल केतु एवं हापूराम आदि उसके घर पर आए और गाली गलौच व धमकियां देने के साथ दो राउंड फायर किए। इस घटना की जानकारी पर कुड़ी पुलिस मौका स्थल पर पहुंची और मुआयना किया। गोली के वार दीवार पर लगना बताया जाता है। कुड़ी पुलिस ने आरंभिक जांच में बताया कि हमले की वजह आपसी रंजिश एवं पुराना लेन देन हो सकता है। इस बारे में तफ्तीश की जा रही है। जांच एसआई सलीम मोहम्मद की तरफ से की जा रही है।

Web Title : Fire by attacking the sword, in the city of Decatur