एक रुपये किलो गेहूं देगी गहलोत सरकार, किसानों के कर्जमाफी की प्रकिया भी शुरू

जयपुर/नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों से पहले अपने घोषणा पत्र में किए गए वादों को मैदान पर उतारने के लिए गहलोत सरकार सबसे आगे है। सीएम रोजाना ऐसी-ऐसी योजनाओं का ऐलान कर रहे हैं, जिससे आने वाले समय में बीजेपी को राजस्थान में मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है। किसानों की कर्जमाफी के बाद बेरोजगारी भत्ता और अब बीपीएल परिवारों को 1 रुपये प्रति किलो गेहूं देने का ऐलान सीएम ने किया।

राजस्थान के मुहैया अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में बीपीएल परिवारों को अंत्योदय योजना के तहत एक रुपए किलो गेहूं दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 17400000 परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इसी के साथ राजस्थान में शुरु हुई किसानों की कर्ज़माफी की प्रक्रिया को भी प्रदेश सरकार ने तेज कर दिया है। सहकारी बैंकों और समितियों से लिए गए अल्पकालीन कर्ज़ माफ हो रहे हैं। राज्य में 164 कैंप अगले तीन दिन तक कर्ज़माफ के लिए लगेंगे। इसमें किसी भी तरह की कोई गड़बड़ ना हो इसलिए आधार वेरिफिकेशन करने के बाद ही कर्ज़ माफ किया जा रहा है।

वहीं राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने से घबराकर बीजेपी नरेंद्र मोदी सरकार अब और रॉबर्ट वाड्रा मुद्दे को तूल देकर राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रही है। लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी सरकार रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ राजनीतिक द्वेष से कार्यवाही कर रही है। सचिन पायलट ने कहा कि 5 साल तक बीजेपी की सरकार थी, लेकिन रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ कोई सबूत नहीं जुटा पाई। अब चुनाव आ गए हैं तो ऐसे में इस मामले को फिर से उछाल कर राजनीतिक लाभ लिया जा रहा है।

Web Title : Gehlot Government, farmers' debt waiver process started