राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलन, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के 3 वाहनों में लगाई आग

राजस्थान में तीन दिन से चल रहा गुर्जर आरक्षण आंदोलन रविवार को उग्र हो गया. धौलपुर में दिल्ली-मुबंई राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-3 को जाम करने के दौरान आंदोलनकारियों और पुलिसकर्मियों में झड़प हो गई. इसके बाद भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया. जवाब में पुलिस ने भी हवाई फायरिंग कर दी. इससे वहां अफरातफरी का माहौल हो गया. भीड़ ने तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया.

जयपुर: राजस्थान में गुर्जरों का आरक्षण के लिए आंदोलन रविवार को तीसरे दिन भी जारी है। गुर्जर नेता दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर पटरियों पर बैठे हैं जिससे कई प्रमुख ट्रेनों को रद्द कर दिया गया हैं या उनके मार्ग में बदलाव किया गया है। इस बीच शांतिपूर्वक चल रहा आंदोलन हिंसक हो उठा है। आंदोलनकारियों ने धौलपुर जिले में आगरा-मुरैना राजमार्ग को बंद करने की कोशिश की। इस दौरान उनकी पुलिस के साथ झड़प हुई। उग्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के तीन वाहनों को आग लगा दी।

धौलपुर के पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि कुछ असामाजिक तत्वों ने आगरा-मुरैना राजमार्ग को बाधित कर दिया। कुछ हुड़दंगियों ने हवा में गोलियां चलाईं। इन लोगों ने पुलिस की एक बस सहित तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान हुए पथराव में चार जवानों को चोट आईं। पुलिस ने आंदोलनकारियों को खदेड़ने के लिए हवा में गोलियां चलाईं। लगभग एक घंटे बाद इस राजमार्ग पर यातायात बहाल कर दिया गया। भरतपुर रेंज के आईजी भूपेंद्र साहू ने गुर्जर समुदाय से कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने की अपील की है। Image result for राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलनरद्द हो सकता है राहुल का दौरा
तय कार्यक्रम के अनुसार कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को 14 फरवरी को अजमेर में होने वाले सेवा दल के राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेना है। राहुल की यात्रा के मद्देनजर दस फरवरी को चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कायड़ विश्राम स्थल का दौरा किया। यहीं पर राहुल गांधी की सभा भी होनी है। लेनिक जानकार सूत्रों के अनुसार गुर्जर आंदोलन की वजह से प्रदेश भर में जो हालात उत्पन्न हुए हैं उन्हें देखते हुए 14 फरवरी का राहुल का दौरा रद्द हो सकता है।Image result for राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलन

प्रदेश में जगह जगह रेल ट्रेक और सड़क मार्ग जाम हो रहे हैं। अब आंदोलन भी उग्र हो रहा है। ऐसे में सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट राहुल के अजमेर दौरे के पक्ष में नहीं है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि राहुल के नहीं आने पर सेवादल का दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यक्रम स्थगित होगा या नहीं? जानकारों की माने तो राहुल गांधी की सभा को लेकर भीड़ जुटाने आदि की जो तैयारी होनीचाहिए वे भी अभी शुरू नहीं हुई है जबकि दौरे में मात्र तीन दिन शेष रह गए हैं अभी तक भी गहलोत और पायलट ने भी सभा स्थल का जायजा नहीं लिया है। आमतौर पर राहुल गांधी की सभा से पहले दो तीन बार गहलोत और पायलट मौका मुआयना करते हैं।Image result for राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलन

सरकार के पेरोकार क्षुब्ध
कर्नल बैंसला ने सवाईमाधोपुर की रेल पटरियों पर बैठ कर जो रवैया अपनाया है उससे राज्य सरकार के प्रमुख पेरोकार पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह भी क्षुब्ध हैं। सिंह ने मीडिया से कहा कि वार्ता के लिए बैंसला को सवाई माधोपुर अथवा जयपुर में आमंत्रित किया गया है, लेकिन बैंसला वार्ता के लिए नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि रेल पटरियों पर सैकड़ों लोगों के सामने कोई वार्ता नहीं हो सकती है। उन्होंने बैंसला से आग्रह किया कि वे माहौल को सुधारने में सहयोग करें। इस बीच राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने फिर दोहराया है कि गुर्जरों को पांच प्रतिशत आरक्षण देने का मामला केन्द्र सरकार से जुड़ा हुआ है। इसलिए आंदोलन कारियों को केन्द्र के समक्ष अपनी मांगों को रखना चाहिए। आरक्षण देना राज्य की कांग्रेस सरकार के हाथ में नहीं है। सरकार तो आरक्षण दिलवाने में सहयोग कर सकती है।

बैंसला ने प्रदर्शनकारियों से शांति बरतने की अपील की 
दूसरी ओर, गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने भी प्रदर्शनकारियों से शांति बरतने की अपील की है। बैंसला ने कहा कि प्रदेश सरकार को हमारी मांग पूरी करनी चाहिए। उन्‍होंने एक बार फिर दोहराया कि जब तक गुर्जर समुदाय को पांच परसेंट आरक्षण नहीं मिल जाता, आंदोलन जारी रहेगा। गौरतलब है कि आंदोलनकारियों और सरकारी प्रतिनिधिमंडल के बीच शनिवार को हुई बातचीत बेनतीजा रही थी।

सवाईमाधोपुर-बयाना के बीच गुर्जर आंदोलन के कारण ज्यादा भीड़ हो गई है। इसलिए, पश्चिम रेलवे ने बांद्रा टर्मिनस से सवाईमाधोपुर के बीच 10-14 फरवरी के बीच रात 8:15 पर स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी। यह सवाईमाधोपुर से दोपहर 1:45 बजे निकलेगी। इस रूट पर 31 ट्रेनें रद्द हैं और 47 के रूट में बदलाव है। वहीं, पश्चिम मध्य रेलवे ने जानकारी दी है कि 10 ट्रेनें प्रभावित हैं।

बता दें कि गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है। वर्तमान में अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है। बैंसला ने कहा है कि जब तक उनकी 5% प्रतिशत आरक्षण की मांग पूरी नहीं हो जाती, वह आंदोलन जारी रखेंगे।
Web Title : Gurgaar movement aggravated in Rajasthan