ज्ञानदेव आहूजा ने बीजेपी छोड़ी, सांगानेर से निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव

जयपुर/नई दिल्‍ली: टिकट बंटवारे से नाराज सभी दलों में नेताओं के आने-जाने का दौर जारी है. इसी कड़ी में टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे बीजेपी के विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इस्तीफा देने के बाद आहूजा ने पार्टी पर तानाशाही का आरोप भी लगाया. आरएसएस के काफी नजदीक माने जाने वाले आहूजा अलवर जिले के रामगढ़ से निवर्तमान विधायक हैं.

बीजेपी की जारी उम्मीदवारों की तीनों लिस्ट में आहूजा का नाम शामिल नहीं रहा है. अलवर के रामगढ़ से दो बार विधायक रहे आहूजा ने जय पुर के सांगानेर से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. आहूजा अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में बने रहे हैं.

आपको बता दे कि JNU पर चल रहे विवाद के दौरान 2016 में अपने उस बयान के बाद सुर्खियों में आए थे. जिसमें उन्होंने जेएनयू परिसर में प्रतिदिन हजारों कंडोम पाए जाते हैं जैसी बाते कही थी. उसके बाद मॉब लिंचिंग और लव जिहाद के मसले पर भी उन्‍होंने कई विवादित बयान दिए हैं. आपको बता दे कि बीजेपी ने राज्य के 200 विधानसभा सीटों मे से 170 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. जारी इन सूची में भी कई चर्चित चेहरों को जगह नहीं मिली है.

टिकट कटने वाले विधायकों में से सबसे चर्चित नाम अलवर की रामगढ़ सीट से विधायक ज्ञानदेव आहूजा का रहा है. इसके अलावा निवर्तमान मंत्री बाबूलाल वर्मा, राजकुमार रिनवा और धन सिंह रावत को इस चुनाव में टिकट नहीं दिया गया है. टिकट कटने से नाराज बीजेपी के कई नेता कांग्रेस का दामन भी थाम चुके है. वहीं कई टिकट के दावेदार इस विधानसभा चुनाव में बागी बन बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं.

Web Title : Gyanadeo Ahuja leaves BJP, will contest independents from Sanganer