पत्नी के झगड़े से परेशान पति ने बहनोई के साथ मिलकर कर दी हत्या, अब ऐसे हुआ खुलासा

बाड़मेर: आज की मॉडर्न बदलती परिवेश में लोगो ने रिश्तो इक अहमियत को भी बदल डाला है, एक वो भी जमाना था जब रिश्तो की अहमियत बहुत ज्यादा थे लेकिन जैसे जैसे समय बदल रहा है वैसे रिश्तो की अहमियत तो कम हो गई और पैसो और स्वार्थीपन ने उन रिश्तो को ऐसा तार तार किया की अब हर इंसान कतराने लगा है, ऐसा ही ताजा मामला सामने आया बाड़मेर की युवती को गुजरात के हिम्मतनगर शहर में पति और उसके ननदोई ने मार दिया और मारने के बाद जला भी दिया और पुलिस से बचने के लिए गुमसुदगी भी दर्ज करा दी.Juhi_murder_badmer_8371-1.jpg

गौरतलब है कि गुजरात के हिम्मतनगर शहर में 3 जनवरी की मध्यरात्रि को एक युवक ने बाड़मेर निवासी पत्नी की अपने बहनोई के साथ मिलकर हत्या कर दी। इसका खुलासा हिम्मतनगर पुलिस ने बुधवार (10 जनवरी) को किया है। आरोपी पति ने हत्या के बाद पुलिस को गुमराह करने का प्रयास भी किया। हत्या के आरोपी पति ने हत्या की वारदात को अंजाम देने के दो दिन बाद पुलिस को पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दी। इसमें उसने बताया कि उसकी पत्नी घर से गायब है।   युवती के दुपट्टे से हुआ संदेह    गुमशुदगी से पहले ही हिम्मतनगर पुलिस को जली हुई अवस्था में एक युवती का शव मिला था। आरोपी की ओर से दी गई गुमशुदगी और पत्नी के फोटो में दुपट्टे और जली हुई अवस्था में मिली युवती के शव के पास से दुपट्टा एक जैसे होने पर पुलिस को संदेह हुआ। पति को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ के दौरान उसने सब कुछ उगल दिया।

युवती बाड़मेर शहर की:

बाड़मेर शहर के पनघट रोड निवासी युवती जूही पुत्री धनराज जोशी की 2-3 माह पूर्व ही भरत सोनी निवासी हिम्मत नगर के साथ शादी हुई थी। शादी के बाद अनबन के कारण पति-पत्नी के बीच झगड़ा होने लगा। हिम्मत नगर के बी डिवीजन थाना पुलिस को 4 जनवरी की सुबह जली हुई अवस्था में युवती का शव मिला था और 6 जनवरी को पति भरत सोनी ने पुलिस को गुमराह करने के लिए हिम्मत नगर पुलिस थाने में पत्नी के घर से गुम होने की रिपोर्ट दी थी। इधर युवती के पति भरत ने 6 जनवरी को हिम्मत नगर थाने में उपस्थित होकर पत्नी जूही के 3 जनवरी की रात से अचानक घर से गायब होने की रिपोर्ट दी। पुलिस को जूही के फोटोग्राफ भी उपलब्ध करवाए गए कि उसकी तलाश की जाए।

पति गिरफ्तार, ननदोई की तलाश

हिम्मतनगर थाना पुलिस ने आरोपी पति भरत पुत्र अशोक सोनी निवासी हिम्मत नगर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं भरत के बहनोई हंसराज सोनी की तलाश है। पुलिस को चकमा में देकर हंसराज बीच रास्ते फरार हो गया था। घटना बी डिवीजन थाना की है, लेकिन गुमशुदगी हिम्मत नगर थाने में दर्ज करवाई। पुलिस ने गुमशुदा युवती के फोटो और दो दिन पहले सरवाडा गांव के पास मिले युवती के शव से मिलाए तो महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगा। फोटो में जूही के पहना दुपट्टा और शव पर मिला दुपट्टा एक ही था। पुलिस ने भरत को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। पुलिस ने जूही की बड़ी बहन इंदू महता से भी फोन पर संपर्क किया और फोटो भेजकर युवती की शिनाख्त करवाई। इस पर पुष्टि हो गई कि जो शव मिला था वह जूही का ही था। इंदू ने भी पुलिस को बताया कि जूही और उसके पति के बीच अनबन थी।

पुलिस ने की परिजनों से बात 

हिम्मतनगर पुलिस ने जूही के पिता बाड़मेर निवासी धनराज से बात की और उनकी बेटी की हत्या की जानकारी दी। पुलिस ने उन्हें कहा कि वो उनके पड़ौसी हंसराज को विश्वास में लेकर साथ लेकर आएं, क्योंकि जूही की शादी उसने ही अपने साले से करवाई थी। ऐसे में पुलिस के कहे अनुसार धनराज उनके परिजन हंसराज को लेकर हिम्मत नगर के लिए रवाना हुए। इस बीच हंसराज को शक हो गया कि उसकी गिरफ्तारी हो सकती है। ऐसे में पालनपुर के पास वह उनको छोड़कर फरार हो गया।

जूही उसका पति भरत 

हिम्मत नगर एस पी सौरभसिंह ने बताया कि भरत सोनी पुत्र अशोक भाई सोनी हिम्मत नगर में मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता है। भरत के बहनोई बाड़मेर निवासी हंसराज सोनी ने ही 2-3 माह पूर्व पड़ौस में रहने वाली जूही की शादी भरत निवासी हिम्मत नगर से करवाईथी। शादी के बाद जूही और भरत के बीच झगड़े होने लगे।

मिलकर मारने की साजिश 

दोनों के बीच जब झगड़े ज्यादा बढ़े तो भरत ने पत्नी को ठिकाने लगाने के लिए अपने जीजा हंसराज से बात की। 2 जनवरी को हंसराज हिम्मत नगर पहुंचा। जूही को 2-3 दिन घुमाने ले जाने का कहकर 3 जनवरी की रात 10 बजे हंसराज की सफारी गाड़ी आरजे-04 यूए 2880 से तीनों रवाना हुए। हिम्मत नगर से करीब 17 किमी. दूर सरवाणा गांव के पास गाड़ी को रोका। लघुशंका के लिए जूही उतर कर जाने लगी तो भरत ने पीछे से जूही के सिर पर हथौड़े से 2-3 बार हमला कर दिया। इससे जूही बेहोश होकर गिर गई। हंसराज भरत ने मिलकर जूही पर पेट्रोल छिड़का और उसे जला दिया। सुबह हिम्मत नगर बी डिवीजन थाना पुलिस को अधजली अवस्था में युवती का शव मिला। घटना के समय भरत ने चालाकी से काम किया। वह खुद का मोबाइल घर पर छोड़ कर आया था, लेकिन हंसराज के पास खुद का मोबाइल था। भरत को गिरफ्तार कर लिया है। हंसराज फरार है।

Web Title : Husband harassed wife with brother-in-law