जालोर में बदमाशों ने युवक का अपहरण कर कोतवाली पुलिस थाने के सामने रस्सी से बांधकर फेंका

जालोर। शहर की कोतवाली थाना पुलिस के सामने मंगलवार रात करीब 9 बजे एक युवक बंधक स्थिति में बरामद हुआ। बाड़मेर के सिवाना निवासी परवेज नाम के इस युवक को अज्ञात बदमाशों ने रस्सी से बांधकर पुलिस कोतवाली के सामने एक दीवार के पीछे फेंक दिया था।

बदहवास हालत में यह युवक अपने पास रखे मोबाइल से अपने परिजनों को कॉल करता रहा तथा लोकेशन बताता रहा। करीब 1 घंटे की तलाश के बाद आखिर युवक पुलिस कोतवाली थाना के सामने ही दीवार के पीछे बंधा हुआ मिला। युवक पूरी तरह से घबराया हुआ था। अस्पताल में लाने के बाद भी काफी देर तक युवक कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था। फिलहाल पुलिस युवक के कुछ बताने का इंतजार कर रही हैं। इधर शहर में युवक परवीन के रिश्तेदारों को सूचना मिलते ही अस्पताल पहुंचे।

बताया जा रहा है कि युवक को सिवाना से अपहरण कर उसके हाथ पीछे बांध दिए थे तथा मुंह पर भी प्लास्टिक की रस्सी बांधी थी। काफी देर तक युवक के मुंह पर रस्सी बंधी होने के कारण युवक का जबड़ा तक जाम हो चुका था। अब सवाल यह उठता है कि पुलिस थाना कोतवाली के सामने ही इस युवक का बंधक मिलना कहीं ना कहीं पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है। जालोर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बदमाशों के हौसले बुलंद
शहर में युवक के अपहरण की यह दूसरी घटना है। गत दिनों भानु प्रताप सिंह का भी इसी तरह शहर के बीच से अपहरण कर बेरहमी से मारपीट की गई थी।इसके बाद पुलिस ने उसे अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाया था। आज फिर एक युवक का पुलिस कोतवाली के सामने ही अपहरण हुए बरामद होना पुलिस की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल खड़ा करता है। पुलिस की ढीली कार्रवाई के चलते बदमाशों के हौसले बुलंद हैं तथा इस तरह की वारदातों को आए दिन अंजाम दे रहे हैं।

घटनाक्रम से खड़े हो रहे है ये सवाल !
जिस तरह इस अपहरण की घटना को बताया जा रहा है हालांकि यह घटनाक्रम भी सवाल खड़े कर रहा है। यह की युवक के जब हाथ पीछे रस्सी से बंधे हुए थे और मुंह पर भी रस्सी थी तो सवाल यह कि युवक फोन पर अपनी लोकेशन कैसे बता रहा था। वही कोतवाली थाने के 100 फिट आगे की एक दीवार के पीछे युवक पड़ा मिला जबकि युवक के पैर बंधे हुए नहीं थे तो सवाल यह भी खड़ा होता है कि युवक खुद चलकर रोड पर क्यों नहीं आ पाया? लगभग 1 घंटे तक वह अपने परिजनों को अपनी लोकेशन बताता रहा और कई बार उसने फोन तक नहीं उठाए। कुल मिलाकर घटनाक्रम कई तरह के सवाल खड़े कर रहा है। परिजन जहां इसे अपहरण होना बता रहे हैं वहीं घटनाक्रम कुछ और इशारा कर रहा है।

Web Title : In Jalore, the miscreants kidnapped the youth and threw a rope tied to the police station near Kotwali.