राजस्थान में फिर बे ’बस’ होंगे यात्री, आज रात 12 बजे से थम जाएंगे रोडवेज के पहिए

जयपुर। अगर आप या आपका कोई अपना अगले दो दिन किसी यात्रा पर जाने का प्लान बना रहा हो तो आपके लिए एक बुरी खबर है। रोडवेजकर्मी अपनी मांगों को लेकर रविवार रात से 24 घंटे की हड़ताल करने वाले हैं। रविवार रात 12 बजे से रोडवेज की करीब 4 हजार 716 बसों के पहिए थम जाएंगे। राज्य कर्मचारी संगठनों ने भी रोडवेजकर्मियों को अपना समर्थन दिया है। इसके बावजूद अगर मांगें नहीं मानी गई तो चक्काजाम हड़ताल आगे भी बढ़ सकती है।

रोडवेजकर्मियों की इस हड़ताल की बड़ी वजह सरकार की वादा खिलाफी है। जुलाई माह में तीन दिन की हड़ताल के बाद सरकार ने संयुक्त मोर्चे से समझौता किया था। उसकी पालना नहीं होने से फिर से हड़ताल की नौबत आन पड़ी है। ऐसे में एक बार फिर प्रदेश की करीब साढ़े 7 करोड़ जनता बे ‘बस’ होने को मजबूर है।

भूख हड़ताल भी जारी
वहीं दूसरी तरफ हड़ताल में शामिल हुए बगैर अपना आंदोलन कर रहे राजस्थान परिवहन निगम संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन की भूख हड़ताल जारी रही, लेकिन सरकार ने अभी तक इनकी सुध नहीं ली है। इसके कारण भूख हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों की तबीयत बिगड़ने लगी है। कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती है तब तक भूख हड़ताल जारी रहेगी।

कर्मचारी संघों का समर्थन
आंदोलनरत रोडवेजकर्मियों को अब सब तरफ से समर्थन मिलने लगा है। आंदोलन के समर्थन में आए राज्य कर्मचारी संगठनों ने घोषणा की है कि सरकार अगर रोडवेज कर्मचारियों की मांगें नहीं मानती है तो राज्य में आम हड़ताल भी हो सकती है। केन्द्रीय श्रमिक संगठन, केन्द्रीय कर्मचारी, राज्य कर्मचारी संगठन, बैंक यूनियन व अन्य कर्मचारी संगठनों ने राजस्थान रोडवेज को अपना समर्थन दिया है।

Web Title : In Rajasthan, there will be 'bus' passengers