भारतीय मूल की इंदिरा नूई की ICC में एंट्री, बनी पहली महिला स्वतंत्र निदेशक

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की तरफ से एक बड़ी खबर आई है। पेप्सीको की चेयरमैन और सीईओ इंदिरा नूई को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की पहली स्वतंत्र महिला निदेशक नियुक्त किया गया। नूई जून 2018 में बोर्ड से जुड़ेंगी।नूयी को विश्व की सबसे ताकतवर महिलाओं में से एक माना जाता है. इंदिरा नूई ने शुक्रवार को आईसीसी की एक प्रेस रिलीज में कहा , ‘मैं क्रिकेट को प्यार करती हूं। मैंने अपने कॉलेज के दिनों में क्रिकेट खेला है और इससे बहुत कुछ सीखा है। इस भूमिका के लिए आईसीसी से जुड़ने वाली पहली महिला बनकर मैं रोमांचित हूं। बोर्ड, आईसीसी साझेदारों और क्रिकेटरों के साथ काम करने का मुझे इंतजार है।’इंदिरा नूई आईसीसी बोर्ड की पहली स्वतंत्र महिला निदेशक नियुक्त इस अवसर पर आईसीसी अध्यक्ष शशांक मनोहर ने कहा , ‘एक और स्वतंत्र निदेशक और वह भी महिला को नियुक्त करना देश के संचालन को बेहतर बनाने की दिशा में अहम कदम है ।’

महिला स्वतंत्र निदेशक बनाने की पहल जून 2017 में की गई थी. इसके बाद आईसीसी के संविधान में व्यापक स्तर पर बदलाव किया गया. इस बदलाव का मकसद इस संस्था के कामकाज को ज्यादा लोकतांत्रिक बनाने था. नूयी को बिजनेस की दुनिया का एक प्रभावी शख्स माना जाता है.

इस नई जिम्मेदारी पर नूयी ने कहा कि उन्हें क्रिकेट बहुत पसंद है. वह टीनएज में क्रिकेट खेलती थी. कॉलेज में भी उन्होंने क्रिकेट खेला और आज भी वह समय मिलने पर यह खेल का लुफ्त उठाती हैं. उन्होंने कहा कि यह गेम उनको टीम के साथ मिलकर काम करने का जज्बा देता है. इंदिरा कृष्णमूर्ति नुई का जन्म 28 अक्टूबर 1955 को हुआ था. दुनिया की प्रभावशाली महिलाओं में उनका नाम शुमार है. वह दुनिया के तमाम संगठनों से जुड़ी हुई हैं.

Web Title : Indian-origin Indira Nooyi's entry in ICC