इस साल चीन को पछाड़ देगा भारत, 7.3 फीसदी रहेगी भारत की विकास दर

नई दिल्ली: जीएसटी और नोटबंदी के बाद आर्थिक मामलों को लेकर घिरी मोदी सरकार के लिए वर्ल्ड बैंक एक बेहतरीन खबर लेकर आया है। वर्ल्ड बैंक ने साल 2018 के लिए भारत का विकास दर 7.3 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। इसके साथ ही ये भी कहा गया है कि आने वाले 2 सालों में भारत 7.5 फीसदी की दर से आगे बढ़ सकता है।

बुधवार को वर्ल्ड बैंक ने 2018 ग्लोबल इकनॉमिक प्रोस्पेक्ट रिलीज किया जिसके बाद ये बात कही गई। उल्लेखनीय है कि हाल ही में सेंट्रल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस ने आंकड़ें जारी कर कहा था कि भारत की विकास दर कम हो सकती है। इन आंकड़ों के सामने आने के बाद विपक्ष ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। सरकार की ओर से जवाब देने के लिए वित्तमंत्री अरुण जेटली खुद मीडिया के सामने आए।

वर्ल्ड बैंक ने भारत के आर्थिक हालातों के बारे में कहा कि इस सरकार के द्वारा किए गए रिफॉर्म के कारण भारत में दूसरे देशों की अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में कहीं अधिक विकास क्षमता है। वर्ल्ड बैंक ने अनुमान लगाया है कि आने वाले दो सालों में भारत 7.5 फीसदी की दर से आगे बढ़ सकता है। वर्ल्ड बैंक के डिवेलपमेंट प्रॉस्पेक्टस ग्रुप के डायरेक्टर आइहन कोसे का कहना है कि आने वाले सालों में भारत दुनिया के किसी भी अन्य देश के मुकाबले उच्च विकास दर हासिल करने जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि साल 2017 में चीन की विकास दर 3.8 फीसदी थी। विश्व बैंक के डिवलेपमेंट प्रॉस्पेक्टस समूह के डायरेक्टर ने कहा कि शॉर्ट टर्म के आंकड़ों पर उनका फोकस नहीं है। भारत की जो बड़ी तस्वीर बन रही है वो ये बताने के लिए काफी है कि भारत की अर्थव्यवस्था में विशाल क्षमता है।
वर्ल्ड बैंक के मुताबिक 2018 में चीन की विकास दर 6.4 फीसदी रहने की संभावना है और ये आने वाले दो सालों में घटेगी। विश्व बैंक ने महिलाओं के बारे में कहा कि दूसरे देशों की तुलना में भारत में महिला श्रम की हिस्सेदारी कम है। दूसरे देशों में ज्यादा महिलाएं काम करती हैं वहीं भारत में काम करने वाली महिलाओं की संख्या काफी कम है।
Web Title : India's growth rate will be 7.3 percent