IPL 2018: आपस में भिड़ गए एक ही देश के दो खिलाड़ी, देखते-देखते इन 3 गेंदों ने पलट डाला मैच

मंगलवार रात आईपीएल 2018 के बड़े मुकाबले में मुंबई इंडियंस और मेजबान रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में आमने-सामने थीं। बैंगलोर की टीम टॉस हार चुकी थी और मुंबई ने उनको पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया था। विराट भी टॉस हारने से नाखुश थे क्योंकि उन्हें भी लक्ष्य का पीछा करना पसंद है। बैंगलोर की टीम को ओपनर्स ने शुरुआत तो अच्छी नहीं दी थी लेकिन बीच में उन्होंने लय जरूर पकड़ ली। इसके बाद 15वें ओवर से 19वें ओवर के बीच विकेटों का ऐसा पतझड़ आया कि बैंगलोर पस्त होती दिखने लगी। आइए जानते हैं कि इसके बाद कहां से पलटा मैच और कैसे..

– ये थी स्थिति

बैंगलोर की टीम दो विकेट के नुकसान पर 121 रन बना चुकी थी लेकिन इसके बाद 15वें ओवर की तीसरी गेंद पर ब्रैंडन मैकुलम आउट हुए जबकि हार्दिक पांड्या ने अपने 18वें ओवर में तीन विकेट (मनदीप सिंह, विराट कोहली और वॉशिंगटन सुंदर) लेकर सबको हैरान कर दिया। जबकि 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर टिम साउथी भी आउट हो गए।आपस में भिड़ गए एक ही देश के दो खिलाड़ी, देखते-देखते इन 3 गेंदों ने पलट डाला मैच

यानी बैंगलोर ने 121 से 143 रन के स्कोर के बीच कुल 22 रन के अंदर अचानक अपने 5 अहम विकेट गंवा दिए थे। बस एक ओवर बाकी था, बैंगलोर अभी 150 तक भी नहीं पहुंचा था और मुंबई के लिए अच्छा संकेत भी था।

– न्यूजीलैंड के दो खिलाड़ियों में हुई जंग और फिर…

रोहित ने अंतिम ओवर न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज मिचेल मैक्लेंघन को सौंपा लेकिन उनके सामने मौजूद उन्हीं के हमवतन कॉलिन डी ग्रैंडहोम कुछ और ही इरादे के साथ मैदान पर उतरे थे। यहां कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने अपने ही देश के मैक्लेंघन की ऐसी धुनाई की जिसने मैच पलट डाला, ये है वो पूरा ओवर और उसकी अंतिम 3 गेंदें जिन्होंने पलट दिया मैच..

पहली गेंद– इस गेंद का सामना उमेश यादव ने किया और तुरंत एक रन दौड़कर कॉलिन डी ग्रैंडहोम को स्ट्राइक दे दी।

दूसरी गेंद- दूसरी गेंद पर कॉलिन ने एक रन लिया।

तीसरी गेंद- सब कुछ बेहद धीमे चल रहा था क्योंकि इस गेंद पर यादव ने लेग बाई का एक रन लिया और कॉलिन फिर स्ट्राइक पर आ गए।

चौथी गेंद- अब शुरू हुआ धमाल, मैक्लेंघन ने धीमी गेंद करके प्रयोग किया लेकिन कॉलिन ने इसे भांप लिया और मिडविकेट दिशा में एक लंबा छक्का जड़ दिया।

पांचवीं गेंद- इस गेंद पर ग्रैंडहोम ने फुर्ती से दो रन लिए क्योंकि अंतिम गेंद पर वो स्ट्राइक पर रहना चाहते थे।

छठी गेंद- इस फुल टॉस गेंद पर कॉलिन ने स्क्वायर लेग पर करारा छक्का जड़ दिया। दिलचस्प बात ये रही कि गेंद कमर से ऊपर थी इसलिए अंपायर ने इसे नोृ-बॉल करार दे दिया। यानी अब मैक्लेंघन को एक और गेंद करनी होगी, उसमें भी कॉलिन के पास फ्री-हिट का मौका।

छठी लीगल गेंद- एक बार फिर धीमी ऑफकटर डालने का प्रयास और मैक्लेंघन को फिर मिली सजा, लॉन्ग ऑफ पर कॉलिन का करारा छक्का। 

यानी अंतिम एक गेंद पर कॉलिन ने बना डाले कुल 13 रन और अंतिम तीन गेंदों पर आए कुल 21 रन। इसके साथ ही पूरे ओवर में बने 24 रन जिसके साथ ही बैंगलोर का स्कोर छलांग लगाता हुआ 143 रन से सीधे 167 रन पर जा पहुंचा। इसके बाद जवाब में उतरी मुंबई ने कोशिश तो काफी की और वो 153 रन तक भी पहुंचे लेकिन शायद अंतिम ओवर पर गंवाए वे रन उन पर भारी पड़ गए और उन्होंने 14 रन से मैच गंवा दिया। दिलचस्प बात ये रही कि इस मुकाबले में मैन ऑफ द मैच का खिताब भी एक न्यूजीलैंड के खिलाड़ी ने ही जीता। ये थे बैंगलोर के टिम साउथी जिन्होंने 2 अहम विकेट चटकाए।

 इससे पहले चौथे ओवर में वोहरा ने भी दिखाया था यही कमाल

वैसे इससे पहले पारी के चौथे ओवर में मनन ओवर ने भी इसी तरह धुआंधार बल्लेबाजी का नमूना पेश किया था। उन्होंने जेपी डुमिनी के इस ओवर में दो चौके और दो छक्कों के दम पर 22 रन जड़े थे। कुल मिलाकर देखा जाए तो चौथे और अंतिम ओवर ने मुंबई की उम्मीदें ध्वस्त की। इन दोनों ओवरों को मिलाकर मुंबई ने कुल 46 रन लुटा दिए थे।

Web Title : IPL 2018: Two players in the same country clashed with each other