J&K: पुलवामा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, 2 जवान शहीद, एक आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के रत्नीपुरा इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए. वहीं एक आतंकी को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया. एक अन्य आतंकी के इलाके में अभी भी मौजूद होने की आशंका है. सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है. आतंकवादियों की उपस्थिति की खुफिया जानकारी मिलने के बाद रत्नीपोरा इलाके में रात के समय तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया. जैसे ही घेराबंदी कड़ी की गई आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकी अपनी ना पाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। दक्षिण कश्‍मीर के पुलवामा में हो रहा यह एनकाउंटर यहां के रातनीपोरा इलाके में चल रहा है। बताया जा रहा है कि एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्‍मद के चार आतंकी फंसे हुए हैं। वहीं, एनकाउंटर में सेना के दो जवान शहीद हो गए हैं और तीन जवानों के घायल होने की खबरें हैं। एक आतंकी के ढेर होने की भी खबरें हैं। सुरक्षाबलों को इलाके में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ की 182 बटालियन और एसओजी पुलवामा की टीमों ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया था।

पुलवामा में मुठभेड़ के दौरान एहतियातन मोबाइल इंटरनेट सर्विसेज कुछ देर के लिए बंद कर दी गई हैं। जम्‍मू कश्‍मीर में पिछले कुछ दिनों से लगातार आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच एनकाउंटर की खबरें आ रही हैं। रविवार देर रात इंडियन आर्मी की उरी स्थित आर्टिलरी यूनिट के कैंप में भी कुछ संदिग्‍ध गतिविधियां देखी गई थीं। दो लोगों को सेना ने हिरासत में लेकर पूछताछ भी की थी। रविवार को ही कुलगाम में सेना ने लश्‍कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के पांच आतंकियों को ढेर कर दिया था।

दक्षिण कश्‍मीर के तहत आने वाले कुलगाम में रविवार को कई घंटों तक एनकाउंटर चला था। सेना, सीआरपीएफ और पुलिस की टीम ने रविवार को कुलगाम जिले के तहत आने वाले देवसार इलाके के केल्‍लम गांव में कासो लॉन्‍च किया था। बताया गया था कि यहां पर कार एक तीन आतंकी शनिवार को पहुंचे थे और वे एक घर में रह रहे थे। श्रीनगर में रविवार को ही आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंका था। इस हमले में 11 नागरिक और पांच जवान घायल हो गए थे।

आपको बता दें कि पिछले साल जम्मू-कश्मीर में 614 आतंकी घटनाएं देखने को मिली थी. इस दौरान 38 नागरिकों और 91 जवानों की मौत हो गई थी वहीं 257 आतंकियों को मार गिराया गया था.

Web Title : J & K: encounter between militants and security forces in Pulwama