जोधपुर को चढ़ा बीजेपी का पहला चुनावी रंग, शेखावत फिर से खेलेंगे चुनावी होली

बीजेपी ने होली पर चुनावी चौसर बिछाई.... 185 की सूची में जोधपुर, पाली और जालोर को चढ़ा रंग..........

राजस्थान खोज खबर: भारतीय जनता पार्टी ने होली की शाम चुनावी चौसर का रंग डाला जिसमें जोधपुर लोकसभा क्षेत्र में अपना उम्मीदवार उतार दिया है. बीजेपी की पहली सूची में पश्चिमी राजस्थान में जिन लोगों को लोकसभा टिकट दिया गया है उनमें खास रूप से जोधपुर और पाली है जिसमें पाली से केन्द्रीय मंत्री पीपी चौधरी, जालोर से देवजी पटेल और जोधपुर से केंद्र में काबिना गजेन्द्र सिंह शेखावत को उम्मीदवार बनाया है.

                                      जोधपुर का गणित और शेखावत की साख: Image may contain: 3 people, people smiling, hatमोदी सरकार में पश्चिमी राजस्थान की भागीदारी भी खास रही है. गजेन्द्र सिंह को पिछले चुनाव में टिकट मिला तब ये चेहरा इतना जाना पहचाना नहीं था लेकिन एक हवा थी, शेखावत बहुत ही सरल स्वभाव वाले व्यक्तित्व है. हुआ भी ऐसा ही, सिंह ने लोगों का मन जीता और चुनाव भी, उसके बाद सरकार में मन की बात करने के लिए शामिल हुए. चूँकि लोगों में गहरी साख के चलते बीजेपी ने शेखावत को फिर से मैदान मारने उतारा है.

                                                     जोधपुर का गणित : Image may contain: 37 people, people smiling, people standing and crowdचूँकि कोंग्रेस इस पशोपेश में है कि टिकट किसे मिले. ये बात अलग है कि कोंग्रेस  अभी तक किसी चेहरे का नाम तय नहीं कर पाई है. अगर कोंग्रेस मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत को मैदान में उतारती है तो ऐसे में जातीय गणित का समीकरण बीजेपी को फायदा देने वाला होगा. अगर वैभव और शेखावत का मुकाबला होता है तो इस बार बीजेपी का पलड़ा भारी रह सकता है.

                                                    शेखावत क्यों है चर्चित: Image may contain: 1 person, sittingगजेन्द्र सिंह शेखावत ने लोगों को अपने नजदीक बनाये रखा. बहुत ही सरल, स्वाभाविकता के साथ लोगों से मिलनसार होने के कारण ही शेखावत को मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ेगा. ऐसे में बीजेपी का ये फैसला बीजेपी के सथानीय कार्यकर्ताओं के लिये सम्मान की तरह है. सिंह की सरल शैली ही उनकी खास खूबी है और इसी कारण उन्हें फिर से लोकसभा की चौखट पर चढने में ज्यादा दिक्कतें नहीं होंगी.

 

 

 

 

 

Web Title : rkk