अमिताभ की ललकार, तुम मुझे कब तक रोकोगे

जूनून के लिए एक ऐसी कविता जिसे सुनकर इन्सान का हौसला खुद ब खुद तरोताजा हो जाता है. आप भी सुनिए अभिताभ बच्चन की आवाज में जादुई कविता ........

हौसला और हिम्मत ही तो है जो इन्सान को किसी उद्देश्य के लिए प्रेरित करते है. इन दिनों अभिनन्दन के लिए ये पंक्तियाँ सही लगाती है. आपको जानकर हैरानी होगी कि अभिनेता अमिताभ बच्चन ने एक कविता का पठन किया है जो हौसले को जुनूनी बना देती है.

Image result for तुम मुझे कब तक रोकोगेइस कविता में किसी तरह का विडिओ नहीं लगाया गया है बल्कि सिर्फ अमिताभ बच्चन की दम भरती हुई आवाज है जो रौंगटे खड़े कर देती है. यकीं नहीं हों तो एक बार आप खुद सुनिए हम कहते है कि आपका जोश भी देखने के लायक होगा.

 

Web Title : rkk