इस महिला के पीछे पड़ा है सांप, अब तक 60 बार काटा लेकिन मौत नहीं आई

नागिन की कहानियां आप अक्सर टीवी धारावाहिकों में देखते होंगे.. ज्यादातर अन्धविश्वाश की बातें होती है लेकिन ये किस्सा नहीं .. कोई कहानी नहीं .... बल्कि हकीकत है....

प्रतिकात्मक तस्वीर
Image result for नागराज
प्रतिकात्मक तस्वीर

टीकमगढ़: कई बार पहले भी सुना था कि सांप डर के मारे या खुद की जान बचाने के लिए काटता है. विज्ञान भी ऐसी बोली ही बोलता है लेकिन यहाँ माजरा जरा उलट है. मध्यप्रदेश की इस महिला को अब तक 60 बार सांप ने काटा है लेकिन वो फिर भी जिन्दा है, कैसे पढ़िए पूरी खबर.

Image result for नागराज की प्रेम कहानी
प्रतिकात्मक तस्वीर

नाम सविता यादव, उम्र 33 वर्ष। इस महिला को सांप 60 से ज्यादा बार डस चुका है, मगर मौत का साया कभी उसके पास नहीं पहुंचा। ये किसी पटकथा की पंक्तियां नहीं हैं, बल्कि मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले की उस महिला की जिंदगी की हकीकत है, जिसे साल में कई बार सांप के दंश का शिकार बनना पड़ता है।

Image result for नागराज की प्रेम कहानी
प्रतिकात्मक तस्वीर

टीकमगढ़ के मोहनगढ़ पंचायत के करीब है पंचमपुरा गांव। यहां रहने वाली सविता की पहचान सर्पदंशिता के रूप में बन चुकी है। सविता को पहली बार सांप ने तब डसा जब उसकी उम्र 19 वर्ष थी। उसके बाद से हर वर्ष औसतन चार से पांच बार सांप उसे डसता है, मगर कुदरत के करिश्मे के चलते मौत उसे छूती नहीं है।

सविता बताती है कि उसे जिस रात सपने में सांप दिखता है, वह समझ जाती है कि जल्दी ही सांप उसके करीब आकर उसे काट सकता है। ऐसा होता भी है। वह बताती है कि एक बार भी ऐसा नहीं हुआ कि सांप सपने में दिखा हो और उसे काटा न हो। इतना ही नहीं, जब उसे सांप काटता है तो ललितपुर का एक ओझा ही उसे होश में ला पाता है।

मजदूरी करने वाले परिवार की सविता के शरीर पर बने 60 निशान सांप के डसने की कहानी बयां करते हैं। हाथ व शरीर के हिस्से में सांप के डसे जाने के निशान दिखाते हुए सविता बताती है कि सांप के डसते ही वह बेहोशी की हालत में आ जाती है और परिवार के लोग उसे ओझा के पास लेकर भागते हैं। होश में आने पर उसे कई दिन तक कमजोरी रहती है। उसका दावा है कि उसे बार-बार एक ही सांप डसता है।

Web Title : rkk