स्मृति की डिग्री पर कांग्रेस का तंज- ‘…क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं’

स्मृति ईरानीकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन एक बार फिर सुर्खियों में आ गई है. कांग्रेस ने इसे लेकर मजाक बनाया है. स्मृति ईरानी उत्तर प्रदेश) की अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधीके खिलाफ चुनाव लड़ रहीं.

राहुल गांधी के खिलाफ उत्तर प्रदेश की अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ रहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अपने हलफनामे के बाद फिर से कांग्रेस के निशाने पर आ गईं हैं. कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने स्मृति ईरानी के हलफनामे में बताई गई एजुकेशन पर केंद्रीय मंत्री पर निशाना साधा है. इसके लिए बाकायदा प्रियंका ने गाना गाकर स्मृति पर निशाना साधा.

स्मृति ईरानी ने गुरुवार को चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे में घोषित किया कि वे ‘ग्रेजुएट’ नहीं हैं. यह पहली बार है जब उन्होंने अपने चुनावी हलफनामे  में साफ लिखा कि उन्होंने तीन साल की डिग्री कोर्स पूरा नहीं किया. कांग्रेस ने स्मृति ईरानी की क्वालिफिकेशन को लेकर तंज कसा है और कहा है ‘क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं.’ इस तरह स्मृति ईरानी का ये हलफनामा फिर से सुर्खियों में गया है. कांग्रेस का ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

कांग्रेस पहले भी स्मृति ईरानी की डिग्री को लेकर उन्हें घेरती आई है लेकिन इस बार जब स्मृति ने खुद को 12वीं पास बताया है तो कांग्रेस और भी हमलावर हो गई है. पार्टी की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने इस पर तंज करते हुए स्मृति की टीवी सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ की थीम लाइन पर कहा, क्वालिफिकेशन के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं, एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते एफिडेविट नए हैं’. इसके लिए प्रियंका ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गाना गाकर स्मृति पर निशाना साधा.

                                          स्मृति का हलफनामा

हलफनामे में उच्चतम शिक्षा के कॉलम में स्मृति ईरानी ने लिखा- दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (पत्राचार) से ‘बैचलर ऑफ कॉमर्स पार्ट-1.’ इस कोर्स कोर्स का वर्ष उन्होंने 1994 लिखा है. इसका अर्थ है कि उन्होंने इस साल यह डिग्री कोर्स शुरू किया था लेकिन इसे पूरा नहीं किया. उन्होंने कोष्टक में लिखा है कि ‘तीन साल की डिग्री कोर्स अपूर्ण.’  हलफनामे के अनुसार ईरानी ने 1991 में हाईस्कूल की परीक्षा पास की, 1993 में इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की.  इससे पहले साल 2014 में अमेठी सीट से पहली बार चुनाव लड़ने के दौरान स्मृति ईरानी  ने हलफनामे में लिखा था कि 1994 में उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (पत्राचार) से बैचलर ऑफ कॉमर्स पार्ट-1 किया. 2004 में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल के खिलाफ दिल्ली के चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के दौरान स्मृति ने एफिडेविट में लिखा था कि उन्होंने 1996 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ करस्पांडेंस से बैचलर ऑफ आर्ट किया. इस तरह विपक्षी पार्टियां स्मृति ईरानी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर कमेंट कर रही हैं.

Web Title : rkk