श्रीसंत को राहत, सुप्रीम कोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध रद्द किया

श्रीसंत की गेंद फिर से फिरकी लेगी .... ? बहरहाल कोर्ट से मिली राहत क्रिकेट प्रेमियों के लिए बड़ी खबर है ...........

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 2013 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की अनुशासनात्मक समिति के उस आदेश को रद्द कर दिया है, जिसमें क्रिकेटर एस श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। अदालत ने बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति से कहा है कि वह तीन महीने के भीतर श्रीसंत को दी जाने वाली सजा की अवधि को लेकर पुनर्विचार करे।

तेज गेंदबाज श्रीसंत को स्‍पॉट फिक्सिंग  मामले में राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट  ने उन पर क्रिकेट खेलने पर लगे लाइफ बैन को हटा दिया है, इसके साथ ही मामले को फिर से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के पास भेजा है. शीर्ष कोर्ट ने इस मामले में कहा कि लाइफ बैन की कठोर सजा सभी मामलों में नहीं होनी चाहिए और BCCI की अनुशासन समिति ने उन परिस्थितियों को नहीं देखा. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम ये साफ करना चाहते हैं कि हमारे इस आदेश का दिल्ली हाईकोर्ट में चल रहे क्रिमिनल केस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.बीसीसीआई की अनुशासनात्मक कमेटी सजा के लिए श्रीसंत की बात भी सुनेगी और तीन माह में फैसला करेगी.

 

सुनवाई में ये कहा था श्री संत ने : सुनवाई में श्रीसंत ने कहा था कि उन्होंने दिल्ली पुलिस के दबाव में जुर्म कबूला था. गौरतलब है कि केरल हाईकोर्ट की एकल पीठ ने 2017 में  श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध हटा लिया था, लेकिन उच्च न्यायालय की डिवीजन पीठ ने बीसीसीआई की अपील पर श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध फिर से बहाल कर दिया था.

Web Title : rkk