फक्कड़ बाबा रामायणी लड़ेंगे 17 वीं बार चुनाव, धरती पकड़ सिंह का तोड़ेंगे रिकोर्ड ?

एक हुआ करते थे धरती पकड़ सिंह.... हर बार चुनाव हारे.... ऐतिहासिक रिकोर्ड बना देवलोक हो गए... और अब मथुरा के फक्कड बाबा भी ऐसा जूनून साधने की जुग्गत में है ............

मथुरा : एक उम्मीदवार ऐसा भी है जिसे हार जीत से कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है. परिणाम जो भी आये लेकिन वो लगातार 16 बार लोकसभा और विधानसभा चुनाव में भाग्य आजमा चुके है और अब 17 वीं बार की फिर से तैयारी है, ये बात अलग है कि वो हर बार हारे ही है. और ये है फक्कड़ बाबा रामायणी, जो मथुरा का जाना-पहचाना नाम हैं।  अब तक 16 बार चुनाव में खड़े हो चुके हैं। इन्हें किसी में भी जीत नहीं मिली, लेकिन उससे बाबा का उत्साह कम नहीं हुआ है। फक्कड़ बाबा इसबार फिर मैदान में हैं और इस बार फिर 2019 में भी लड़ेंगे। बाबा के इस उत्साह के पीछे उनके गुरु की कही गई बात है।

                                              फिर से हारे का सहारा, लोकतंत्र हमाराImage result for फक्कड़ बाबा रामायणी बाबा के साथ जन्मे बच्चे भी 40 पार कर गए है. साल 1976 से लगातार लोकसभा और विधानसभा चुनावों में निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ने वाले मथुरा के फक्कड़ बाबा रामायणी एक बार फिर मथुरा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटे हैं। वह आठ बार विधानसभा और आठ बार ही लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि हर बार हार ही मिली मगर उन्हें इसका मलाल नहीं।

                         गुरु ज्ञान ऐसा ही कभी नहीं हुए कमजोर Image result for फक्कड़ बाबा रामायणी
फक्कड़ बाबा रामायणी को अपने गुरु के उस वचन पर आज भी बहुत भरोसा है, जिसमें उन्होंने कहा था कि 20वीं बार चुनाव में जीत का ताज जरूर बाबा के सिर बंधेगा। बाबा ने बताया कि भक्त और समर्थकों ने इस बार चुनाव के लिए पैसे दिए हैं। 25 हजार रुपये जमा हो चुके हैं और मैं लोकसभा चुनाव जरूर लड़ूंगा। बता दें कि फक्कड़ बाबा की तरह एक जोगेंदर सिंह उर्फ धरती पकड़ भी थे। 1962 से 1998 तक वह 25 बार चुनाव हारे। 1998 में उनकी मौत हो गई। और अब बाबा अपना दम  की तैयारी में है.

Web Title : rkk