जोधपुर: RPF हैड कांस्टेबल की बहादुरी से बची महिला यात्री की जान

जोधपुर। जोधपुर रेल मंडल पर रेलयात्रियों की सुरक्षा के लिए सजग आरपीएफ जवान ने चलती ट्रेन में बच्चों के साथ सवार होने का प्रयास में गिरी महिला व बच्चों की जान बचाई। उत्तर पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी गोपाल शर्मा के अनुसार आज सुबह लगभग 9.30 बजे गाड़ी संख्या 22478 जयपुर-जोधपुर इंटर सिटी में एक महिला ने एक 5-6 महिने के बच्चे तथा एक 8-10 साल के बच्चे के साथ मेड़तारोड स्टेशन पर चलती ट्रेन में चढ़ने का प्रयास किया। इस प्रयास में वह गिर गई तथा ट्रेन के दरवाजे का हैंडिल पकड़ कर घसीटने लगी।

दोनों बच्चे भी प्लेटफार्म पर गिर गए। यह देख कर आरपीएफ के हैड कॉस्टेबल मुकेश कुमार मीणा जो कि डी-3 कोच में एस्कॉर्ट कर रहे थे, जवान ने सजगता दिखाते हुए तुरंत ट्रेन से उतर गए तथा तत्परता से महिला को चलती ट्रेन से दूर खींचा। मुकेश ने ट्रेन के गार्ड को वाकी टॉकी पर संदेश देकर ट्रेन को रुकवाया। महिला व बच्चों को ट्रेन में जोधपुर लाया गया जहां महिला को घुटने में लगी चोट के इलाज के लिए एमडीएम अस्पताल भेजा गया। महिला व बच्चे सुरक्षित व कुशल है। मंडल रेल प्रबन्धक गौतम अरोरा व रेलवे प्रशासन ने हैड कांस्टेबल मुकेश कुमार मीणा के इस सजगता व तत्परता पूर्ण कार्य की प्रशंसा की है।

Web Title : Jodhpur: The brave survivor of the RPF head constable's life