कभी मुंबई, कभी पुलवामा…. पाकिस्तान की राजनैतिक और सैनिक ईच्छाओं की तृष्णा के आगे बहुत कुछ नाश हो गया. खेल में भी दुश्मनी की सारी हदें पार लेकिन एक बात ऐसी है जो बड़ी ही शुकून देने वाली है. तल्खी के तेवरों के बीच राजस्थान के अजमेर के  जोएब नियाजी निकाह के लिये मय बारात पाकिस्तान गए.

अजमेर के तंग खदीम मोहल्ले के नियाजी परिवार के सबसे छोटे बेटे 30 साल के जोएब नियाजी की शादी 20 जून को पाकिस्तान के हैदराबाद से सैयदा साइमा नियाजी से हो रही है, और परिवार इस क्षेत्र में शांति के लिए दुआएं कर रहा है।Related image

दूल्हे के पिता मुख्तार नियाजी को तब तक राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं थी जब तक कि उनके बेटे की दो साल पहले अजमेर में सगाई नहीं हो गई। नियाजी ने कहा, ‘दुल्हन मेरे चाचा की पोती है जो 1947 में पाकिस्तान चले गए थे। मैं इस शादी के लिए और अपने चाचा के साथ रिश्ते को जारी रखने के लिए आगे आया हूं। मुझे उम्मीद है कि शादी अच्छे से हो जाएगी।’

नियाजी 11 वीजा प्राप्त करने में कामयाब रहे: यह शादी पहले दिसंबर 2018 में तय हुई थी लेकिन इसे रद्द करना पड़ा क्योंकि दुल्हन और उसके माता-पिता को चल रहे तनाव के कारण वीजा की अनुमति नहीं दी गई थी। बाद में, भारतीय वायु सेना द्वारा बालाकोट हवाई हमला किया गया और उसके कारण बढ़े तनाव से दोनों परिवारों को शादी की उम्मीद नहीं थी। तब परिवारों को शादी की अगली तारीख तय करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

Image result for निकाह

जोएब के मुताबिक परिवार न्यूजपेपर में खबरें देखते रहे और रोजाना दोनों राष्ट्रों के बीच तनाव कम होने की खबरों की तलाश करते रहे। अंत में, दोनों परिवारों ने अप्रैल में तारीख तय की। मोदी सरकार के शपथ ग्रहण और इमरान खान द्वारा बधाई देने के बाद, हमें लगा कि हम इस शादी के लिए आगे बढ़ सकते हैं।