अब तक कहा जाता रहा है कि गाय का दूध में वही गुण होते हैं जो नवजात शिशुओं को मां के दूध में मिलते हैं। इसलिए इसे शिशुओं के लिए इसे अच्छा माना जाता रहा है। मगर रॉयल मेलबर्न इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (RMIT) के एक अध्ययन में बकरी के दूध को लेकर कई चौंकाने वाले तथ्य पेश किए गए हैं।

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में छपे RIMT के शोध में कहा गया है कि बकरी का दूध प्रीबायोटिक और एंटी इनफेक्शन गुणों से लैस होता है। यह नवजात शिशुओं में होने वाले गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल इनफेक्शन से रक्षा करता है। रिसर्च में कहा गया है कि बकरी के दूध में oligosaccharides नाम का एक तरह का प्रीबायोटिक होता है, जो आंतों में गुड बैक्टीरिया को बढ़ने में मदद करता है। इसके साथ ही यह खतरनाक बैक्टीरिया से बचाने में अहम रोल अदा करता है। शोध के मुताबिक बकरी के दूध में प्राकृतिक रूप से 14 प्रीबायोटिक oligosaccharides होते हैं। इनमें से 5 मां के दूध में भी होते हैं। आइए जानते हैं बकरी के दूध के बच्चों के लिए फायदों के बारे में :

– बकरी के दूध में एग्लूटिनिन नाम का कंपाउंड नहीं होता है। यह दूध में मौजूद वसा को एकत्र नहीं होने देता है। गाय के दूध में यह तत्व मौजूद होता है।

– livestrong.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक बकरी के दूध में छोटे फैट पार्टिकल होते हैं। साथ ही इसमें उपलब्ध प्रोटीन छोटे बच्चों में होने वाली दूध उलटने की समस्या को कम करने में मदद करता है।

– गाय के दूध के मुकाबले बकरी के दूध में सेलेनियम, नियासिन और विटामिन ए की मात्रा अधिक होती है।

डॉक्टर नरेन्द्र छंगाणी, पूर्व निदेशक, उम्मेद अस्पताल जोधपुर

बकरी के दूध के लिए डॉक्टर नरेन्द्र छंगाणी कहते है कि “बकरी के दूध के फायदे और गाय के दूध फायदे में अक्‍सर तुलना की जाती है। दोनो ही दूध स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं लेकिन किसका उपयोग किया जाये यह जानना सभी की जिज्ञासा होती है। यह बिल्‍कुल सच है कि गाय का दूध बहुत ही फायदेमंद होता है। लेकिन बकरी के दूध के फायदे भी कम नहीं हैं। बकरी के दूध वजन कम करने, पाचन ठीक करने, बहुत से पोषक तत्‍व दिलाने, प्रतिरक्षा बढ़ाने, हड्डियों को मजबूत करने जैसे फायदे दिलाने के लिए उपयोग किया जाता है।

 

डॉक्टर लवली जेठवानी, चिकित्सक

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर लवली जेठवानी बताती है कि “बकरी के दूध का नियमित सेवन वयस्‍कों और बच्‍चों दोनों के लाभदायक होता है। स्पेशली गर्भावस्था के दौरान बकरी का दूध काफी फायदा दे सकता है. रिसर्च के बाद पता चला है कि इस दूध बकरी का दूध आयरन के बेहतर इस्तेमाल में मदद करता है। इससे आयरन और कैल्शियम, फॉस्फोरस और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स के साथ परस्पर क्रिया की संभावना कम हो जाती है। और तो और  बकरी के दूध में दिमाग की क्षमता बढ़ाने वाले सन्युग्म लिनोलिक ऐसिड भी होता है।  गाय के दूध की अपेक्षा बकरी के दूध में एलर्जी बढ़ाने वाले तत्व नहीं होते हैं। साथ ही इसमें लैक्टोज की मात्रा भी गाय के दूध के मुकाबले काफी कम होती है।”

 

                                                                              ये भी हैं फायदे
ब्‍लड प्रेशर होता है कम 

बकरी के दूध पीने वाले व्यक्ति का ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है क्योंकि बकरी के दूध में पोटेशियम का स्तर काफी ज्यादा होता है जो ब्लड प्रेशर को कम या ज्यादा होने से रोकती है। इसके अलावा बकरी के दूध में सेलेनियम नामक एक मिनरल पाया जाता है।

इम्‍यून सिस्‍टम बढ़ता है 
जो बॉडी के प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाने में मददगार होता है। कई डॉक्टर बच्चों को इसके सेवन का सुझाव देते है। इसके दूध में भारी मात्रा में कैल्शियम होता है जिससे हड्डियां मजबूत होती है और बच्चा जल्द चलने लगता है। इसके अलावा बकरी के दूध में 35 प्रतिशत तक फैटी एसिड मौजूद होता है जो शरीर के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है।

 

हडि्डयां होती है मजबूत  कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। बकरी का दूध पीने से कैल्शियम की कमी पूरी होती है, और इससे हड्डियां मजबूत होती हैं।

आंतों की सूजन कम 
रिसर्च में पता चला है बकरी का दूध पीने से आंतों की सूजन कम होती है। रोजाना बकरी का एक ग्लास दूध पीना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है।