कर्नाटक भी कांग्रेस के हाथ से निकला, बड़े सूबे के नाम पर बस पंजाब

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव से पहले एक और राज्‍य कांग्रेस के हाथ से जाता द‍िखाई दे रहा है. कर्नाटक चुनाव के फाइनल नतीजे थोड़ी ही देर में आ जाएंगे, शुरुआती रुझानों में बीजेपी बढ़त बनाए हुए हैं. अगर बीजेपी ये चुनाव जीत जाती है तो तो देश के 20 राज्यों में एनडीए की सरकार होगी. वहीं ये हार कांग्रेस के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है क्योंकि इस हार के बाद कांग्रेस के खाते में सिर्फ तीन राज्य बचेंगे.

पंजाब, तमिलनाडु, पश्चिम और केरल जैसे कुछ राज्यों को छोड़ दें तो, 2014 के बाद बाकी राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में या तो बीजेपी ने खुद के दम पर या अपने सहयोगियों के साथ मिलकर सरकार बनाने में कामयाब रही.

किन राज्यों में है कांग्रेस की सरकार?

कर्नाटक में अगर कांग्रेस की हार होती है तो उसकी सरकार अब सिर्फ तीन राज्यों पंजाब, मिजोरम, और पुंडुचेरी में बचेगी. पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना धीरे-धीरे सच साबित होता जा रहा है और धीरे-धीरे कांग्रेस के हाथों से कई राज्य फिसलते जा रहे हैं. वहीं कर्नाटक जीत के बाद देश के 20 राज्य भगवा रंग में रंग जाएंगे. और 20 राज्यों में एनडीए की सरकार हो जाएगी.

इन राज्यों में है बीजेपी की सरकार

उत्तर प्रदेश: 2017 में बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में 403 में से 325 सीटों पर कब्जा कर शानदार जीत हासिल की थी. और योगी आदित्यनाथ यूपी के मुख्यमंत्री बने थे.

मध्यप्रदेश: बीजेपी 2003 से ही यहां सत्ता में हैं. इस साल के आखिर में मध्यप्रदेश में चुनाव होने वाले हैं.

हरियाणा: बीजेपी ने 2014 में हरियाणा में जीत हासिल की थी. 90 विधानसभा सीटों बीजेपी ने 47 सीटों के साथ बहुमत से अपनी सरकार बनाई थी और मनोहर लाल खट्टर सीएम बने थे.

छत्तीसगढ़: बीजेपी इस राज्य में भी 3 बार से सत्ता में हैं. छत्तीसगढ़ में भी इसी साल चुनाव होने वाले हैं.

राजस्थान: बीजेपी 2013 से यहां सत्ता में हैं, 2019 चुनाव से पहले राजस्थान में भी चुनाव होने वाले हैं.

महाराष्ट्र: बीजेपी को महाराष्ट्र में बहुमत नहीं मिला था. बाद में बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर सरकार बनाई थी और देवेंद्र फडनवीस मुख्यमंत्री बने थे.

झारखंड: लोकसभा चुनाव के तुरंत बाद हुए झारखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 81 में से 42 सीटों पर जीत दर्ज कर सरकार बनाई.

असम: 2016 के विधानसभा चुनाव में 15 सालों से चली आ रही कांग्रेस की सरकार को बीजेपी ने हरा दिया था और असम गण परिषद (AGP) और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) के साथ गठबंधन कर सरकार बनाई थी.

अरुणाचल प्रदेश: 2016 के चुनाव में बीजेपी ने 60 में से 48 सीटों पर जीत हासिल की थी.

सिक्किम: राज्य में सत्ताधारी पार्टी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) ने 2014 के चुनावों में 32 में से 28 सीटें जीती थीं. SDF, NDA का हिस्सा है और इस तरह से सिक्किम एनडीए की सरकार है.

उत्तराखंड: 2017 में 70 विधानसभा सीटों में बीजेपी ने 57 सीटें जीतकर यहां सरकार बनाई थी और त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बने थे.

मणिपुर: 2017 के विधानसभा चुनावों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. बीजेपी ने निर्दलीय विधायकों के साथ मिलकर अपनी सरकार बनाई.

गोवा: 2017 के विधानसभा कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, 40 सीटों में से बीजेपी ने 13 और कांग्रेस ने 17 सीटों पर जीत दर्ज की थी. लेकिन बीजेपी यहां भी सरकार बनाने में कामयाब रही.

बिहार: 2015 के विधानसभा चुनावों में नीतीश कुमार ने लालू के साथ गठबंधन कर सरकार बनाई. बीजेपी ने अकेले चुनाव लड़ा और उसे हार का सामना करना पड़ा. लेकिन कुछ ही महीनों में ये गठबंधन टूट गया और नीतीश कुमार ने बीजेपी के समर्थन से सरकार बनाई.

जम्मू-कश्मीर: बीजेपी ने पहली बार पीडीपी के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाई.

गुजरात: 2017 दिसंबर में हुए चुनावों में बीजेपी ने 99 सीटें जीतकर 5वीं बार गुजरात में सरकार बनाई.

हिमाचल प्रदेश: 2017 में हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव जीतकर बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई थी.

नागालैंड: बीजेपी ने इस 15 साल पुराने नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) से गठबंधन तोड़कर NDPP से हाथ मिलाया और दोनों ने साथ मिलकर सरकाई बनाई.

त्रिपुरा: पिछले 25 सालों से त्रिपुरा में लेफ्ट का ही कब्जा रहा है. लेकिन 2018 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने इंडीजिनियस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) के साथ मिलकर चुनाव लड़ा और 43 सीटों पर जीत हासिल कर सरकार बनाई.

2019 से पहले अहम है कर्नाटक चुनाव

कर्नाटक का चुनाव 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले क्वॉर्टर फाइनल माना जा रहा है. कांग्रेस के लिए ये चुनाव बेहद अहम थे, लेकिन रूझानों को देखकर यही लगता है कि बीजेपी ने कांग्रेस के किले में सेंध लगा ली है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए भी ये चुनाव बेहद अहम थे. राहुल ने कर्नाटक में अपनी पूरी ताकत लगा दी थी.वहीं बीजेपी ने भी कर्नाटक को नाक की लड़ाई बना ली था. पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद 6 दिन में यहां 21 रैलियां की थीं. वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 27 रैलियां की थीं. कर्नाटक में बीजेपी 2008 से 2013 के बीच सत्ता में रही थी. दक्षिण भारत में पहली बार कमल खिलाने वाले येदियुरप्पा पर मोदी-शाह की जोड़ी ने एक बार दांव लगाया है.

Web Title : Karnataka also came out of Congress hands