चुनावी गर्मी में बोले अमित शाह , हार के डर से हिंसा करवा रही हैं ममता बनर्जी

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का रण बंगाल में हिंसक हो गया है. मंगलवार को कोलकाता में हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में जमकर बवाल हुआ, हिंसा हुई और आगजनी भी हुई. इसी मुद्दे पर बीजेपी आक्रामक है. आज दिल्ली में अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और जमकर ममता बनर्जी पर हमला बोला.

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर हिंसा करने का आरोप लगाया है। मैं ममता जी को बताना चाहता हूं कि आप सिर्फ 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं और भाजपा देश के सभी राज्यों में चुनाव लड़ रही है।  मगर कहीं पर भी हिंसा नहीं हुई, लेकिन बंगाल में हर चरण में हिंसा हुई इसका साफ़ मतलब है कि हिंसा TMC कर रही है।। बंगाल में लोकतंत्र का गला घोटा जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब तक चुनाव के 6 चरण समाप्त हो चुके हैं, इन 6 के 6 चरणों में सिवाय बंगाल के कहीं भी हिंसा नहीं हुई।

अमित शाह ने कहा कि हार से घबराकर हिंसा करवा रही हैं ममता बनर्जी। उन्होंने कहा कि ईश्वरचंद विद्यासगर की मूर्ति बीजेपी ने नहीं तोड़ी है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग गड़बड़ी करने वालों पर सख्ती क्यों नहीं कर रहा है औ ममता की धमकी पर चुनाव आयोग ने एक्शन क्यों नहीं लिया। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, बंगाल में एक भी हिस्ट्रीशीटर को नहीं पकड़ा गया।amit shah

इससे पहले अमित शाह के मंगलवार को कोलकाता में हुए विशाल रोड शो के दौरान बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुईं। हालांकि, शाह को किसी तरह की चोट नहीं आई और पुलिस उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले गई। अधिकारियों ने बताया कि शहर के कुछ हिस्सों में हिंसा भड़क उठी जब विद्यासागर कॉलेज के भीतर से टीएमसी के कथित समर्थकों ने शाह के काफिले पर पथराव किया जिससे दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच झड़प हुई।

                    मामले की बड़ी बातें : 

  1. तृणमूल कांग्रेस  ने भाजपा एवं उसके कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़पों के दौरान बांग्ला लेखक एवं दार्शनिक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा गिराने के मुद्दे परचुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा है. टीएमसी ने ट्वीट किया, “डेरेक ओब्रायन, सुखेंदु शेखर राय, मनीष गुप्ता, नदीमुल हक वाली तृणमूल संसदीय टीम कोलकाता में शाह के रोड शो के बाद बंगाल की संपदा पर हुए हमले को लेकर चुनाव आयोग से मुलाकात करना चाहती है. भाजपा के बाहरी गुंडों ने आगजनी की और विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा को तोड़ दिया.”
  2. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर मंगलवार को तीखा हमला बोलते हुए कहा कि वह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता. ममता बनर्जी ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता? वे इतने असभ्य हैं कि उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी. वे सभी बाहरी लोग हैं. भाजपा मतदान वाले दिन के लिए उन्हें लाई है.’
  3. भाजपा ने मंगलवार को चुनाव आयोग से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को राज्य में चुनाव प्रचार से रोकने का अनुरोध किया और आरोप लगाया कि वहां ‘संवैधानिक तंत्र’ ध्वस्त हो गया है. कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हिंसा और आगजनी की घटना के बाद केन्द्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी सहित पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग पहुंचा और राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की.
  4. वहीं अमित शाह ने कहा, ‘टीएमसी के गुंडों ने मुझ पर हमला करने की कोशिश की. ममता बनर्जी ने हिंसा भड़काने का प्रयास किया. लेकिन मैं सुरक्षित हूं.’ शाह ने कहा कि झड़पें होने के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही. उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें बताया था कि रोडशो की इजाजत कॉलेज के पास समाप्त होती है और उन्हें स्वामी विवेकानंद के बिधान सारणी स्थित पैतृक आवास पर ले जाया जाएगा.
  5. साथ ही शाह ने दावा किया, ‘वे (पुलिस) नियोजित मार्ग से हट गए और उस रास्ते पर ले गए जहां ट्रैफिक जाम था. मुझे श्रद्धांजलि देने के लिए विवेकानंद के आवास पर नहीं जाने दिया गया और मैं इससे दुखी हूं.’
  6. ममता बनर्जी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए शाह को ‘गुंडा’ बताया. उन्होंने शहर के बेहाला की रैली में कहा, ‘अगर आप विद्यासागर तक हाथ ले जाते हैं तो मैं आपको गुंडे के अलावा क्या कहूंगी. मुझे आपकी विचारधारा से घृणा है, मुझे आपके तरीकों से नफरत है.’ साथ ही उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ गुरुवार को एक विरोध रैली की घोषणा की.
  7. विद्यासागर कॉलेज के प्रधानाचार्य गौतम कुंडु ने कहा, ‘भाजपा समर्थक पार्टी का झंडा लिये हमारे दफ्तर के अंदर घुस आए और हमारे साथ बदसलूकी करने लगे. उन्होंने कागज फाड़ दिया, कार्यालय एवं संघ के कक्षों में तोड़फोड़ की और जाते वक्त विद्यासागर की आदम कद प्रतिमा तोड़ दी. उन्होंने दरवाजे बंद कर दिये और मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया.’ साथ ही उन्होंन कहा कि भाजपा समर्थकों ने कुछ छात्रों को चोटिल कर दिया.
  8. पुलिस उपायुक्त शुभंकर सिन्हा नीत एक पुलिस टीम मौके पर पहुंची और कहा कि जांच शुरू हो गई है और दोषियों पर जल्द मामला दर्ज किया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि कॉलेज स्ट्रीट पर कलकत्ता विश्वविद्यालय परिसर के बाहर झड़प तब शुरू हो गई जब एक समूह ने शाह के खिलाफ नारेबाजी करनी शुरू कर दी और उन्हें काले झंडे दिखाए. हालांकि पुलिस ने स्थिति को तेजी से नियंत्रित कर लिया था. झड़प कर रही भीड़ के मध्य कोलकाता की सड़कों पर पहुंचने से पहले शाह ने शहर के हिस्सों में ‘जय श्री राम, जय जय श्री राम’ और ‘मोदी, मोदी’ के नारों के बीच भगवा लहर दर्शाने की कोशिश की.
  9. चुनाव के दौरान आज से पहले कभी सांप्रदायिक आधार पर जिस राज्य का इस तरह कभी ध्रुवीकरण नहीं हुआ हो वहां राम, हनुमान और ‘वानर सेना’ की वेशभूषा में लोग नजर आए. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पूर्वोत्तर के लिए पार्टी के अहम नेता हिमंत बिश्व शर्मा एवं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शाह के रोड शो शुरू होने से पहले मोदी एवं शाह के पोस्टर हटाए जाने का विरोध किया विजयवर्गीय एक पुलिस अधिकारी के साथ तीखी बहस करते नजर आए.
  10. केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में कोई लोकतंत्र नहीं है.’ केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस हिंसा की निंदा करने के साथ ही कहा कि क्या पश्चिम बंगाल को ‘गैंगस्टरों की सरकार’ चला रही है. उन्होंने ट्वीट किया कि 19 मई के अंतिम चरण में राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष लोकसभा चुनाव कराने के लिए सभी निगाहें अब चुनाव आयोग पर हैं. (इनपुट- भाषा)
Web Title : rkk