जोधपुर। संभाग के जैसलमेर जिले में पोकरण विधानसभा क्षेत्र के लाठी कस्बे में मतदान के दौरान घटित हिंसा व आगजनी की घटनाओं के बाद अब शांति है। रविवार को भी यहां अधिकांश बाजार बंद रहे। वहीं इंटरनेट सेवा भी बंद रही। एहतियात के तौर पर पुलिस व आरएसी का जाब्ता तैनात है। लाठी कस्बे में दो दिन पहले मतदान की प्रक्रिया समाप्त होने के समय दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी।

इस दौरान उपद्रवियों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ करने के साथ ही कुछ वाहनों में आग लगा दी थी। हिंसा की इस घटना में कुछ लोग चोटिल भी हो गए। इस उपद्रव के बाद सोशल मीडिया पर तेजी से अफवाह फैलना शुरू हो गई। इस कारण लोगों में चिंता व्याप्त हो गई। इसके बाद जिला प्रशासन की अनुशंषा पर संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता ने इंटरनेट सेवा निलम्बित करने का आदेश जारी किया था।

रविवार को भी यहां सोशल मीडिया पर बैन रहा। वहीं यहां एहतियात के तौर पर पुलिस और आरएसी के जवान भी तैनात रहे जिस पर गांव पुलिस छावनी बन गया है। यहां रविवार को भी अधिकांश दुकानें बंद रही। उल्लेखनीय है कि पोकरण में भाजपा ने बाड़मेर के तारातरा मठ के महंत प्रतापपुरी को अपना प्रत्याशी बनाया हुआ है जबकि मुस्लिम धर्म गुरु गाजी फकीर के बेटे सालेह मोहम्मद कांग्रेस के प्रत्याशी है।

पुलिस ने संभाला मोर्चा
गांव में पुलिस ने मोर्चा संभाल रखा है। शनिवार को पुलिस महानिरीक्षक संजीवकुमार नार्जारी ने लाठी पहुंचकर घटना स्थल का जायजा लिया था। इसके अलावा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयनारायण मीणा, बालोतरा के एएसपी कैलाशदान रतनू, पुलिस उपाधीक्षक रामचंद्र चौधरी सहित एक दर्जन निरीक्षक व उपनिरीक्षक भारी पुलिस जाब्ते के साथ यहां डेरा डाले हुए है। इनके साथ आरएसी की दो कंपनी, आरएएफ व पुलिस के जवान तैनात किए गए है। आगजनी की आशंका को देखते हुए पोकरण व जैसलमेर से अग्निशमन वाहन और पुलिस का वज्र वाहन भी गांव में खडेÞ करवाए गए है।

इनका कहना है
स्थिति नियंत्रण में है। एहतियात के तौर अतिरिक्त जाब्ता तैनात कर रखा है। सड़कों पर गश्त की जा रही है। वहीं आरोपियों की तलाश भी जारी है।
जगदीशचंद्र शर्मा, पुलिस अधीक्षक, जैसलमेर