जानें केजरीवाल अौर हिलेरी क्लिंटन का ‘खांसी कनेक्शन’ !

नई दिल्ली: राजनीति वाकई दिलचस्प चीज है. जैसे इलाकों के बदलने और देश बदलने के साथ बोलचाल, रहन सहन और खान-पान तक बदल जाता है. राजनीति और उसे करने का ढंग भी बदल जाता है. दिल्ली में अरविंद केजरीवाल खांसते-खांसते मुख्यमंत्री बन गए. तो उधर दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन भी इसी राह पर चले. अब क्या आपको पता है कि अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच एक समानता भी है.

नहीं पता है तो हम आपको बता दें कि यूं तो हिलेरी और केजरीवाल राजनीति के दो अलग छोर हैं, लेकिन इन दोनों राजनेताओं की जिंदगी में एक समस्या का बहुत ही गहरा नाता है, जिसने दोनों की तुलना करने पर मजबूर कर दिया है और यह समस्या से खांसी की।

खांसी, केजरीवाल और हिलेरी 

अगर आपको याद हो तो अरविंद केजरीवाल ने जब आम आदमी पार्टी की स्थापना की थी और राजनीति में कदम रखा था। उस वक्त जितनी चर्चा ‘आप’ और केजरीवाल की हो रही थी, उतनी ही चर्चा केजरीवाल की खांसी की परेशानी की भी हो रही थी। ऐसा ही कुछ अमेरिका में हिलेरी क्लिंटन के साथ भी हुआ। राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान हिलेरी क्लिंटन की खांसी भी उनके भाषणों की तहत सुर्खियों में बनी रही। हाल ही में एक बार फिर हिलेरी क्लिंटन खांसी की समस्या से जूझ रही हैं। जैसे केजरीवाल ने उनका बोलना और जीना मुश्किल कर रखा था, वैसे ही हिलेरी भी खांसी से खासा परेशान चल रही हैं। इस हफ्ते ‘द मेकर्स कॉन्फ्रेंस’ के दौरान हिलेरी को वैसे ही खांसी की समस्या से जूझता देखा गया, जैसी हालत उनकी वर्ष 2016 में राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के दौरान थी।  एक रिपोर्ट में मुताबिक, न्यूयॉर्क से एक लाइव फीड पर सम्मेलन के दौरान हिलेरी ने लॉस एंजिल्स में तीन दिवसीय ‘मैकर्स सम्मेलन’ के समापन के मौके पर बोलती दिखीं। जिसमें उन्होंने महिलाओं से यौनवाद, जातिवाद और धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ अपनी आवाज बुंलद करने का आग्रह किया।

हालांकि हिलेरी कुछ बोलना शुरू ही करती उससे पहले खांसी के कारण वे कुछ बोल न सकीं। जैस ही उन्होंने कहा, ‘मैं बोलने की प्रतिज्ञा लेती हूं, मैं प्रतिज्ञा लेती हूं कभी हार नहीं मानूंगी’…वैसे ही उन्हें खांसी आना शुरू हो गई। एक गिलास पानी पीने के बाद हिलेरी को खांसी से थोड़ी राहत मिली। जिसके बाद उन्होंने कहा कि वे महिलाओं के अधिकारों और अवसरों को आगे बढ़ाने के लिए हर कदम को उठाएंगी। वर्ष 2016 में हिलेरी क्लिंटन राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान 9/11 हमलों के स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंची थी, जिसके बाद उनके अस्वस्थ होने की खबरें सामने आईं। 9/11 हमलों के 15 साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित एक स्मृति सभा में वे पहुंचीं थीं। जिसके बाद डॉक्टरों ने बताया था कि उन्हें बुखार हो गया है और उनके शरीर में पानी की कमी हो गई है।

बात करें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तो, वे भी लंबे वक्त से खांसी की समस्या से जूझ रहे थे। हालांकि बेंगलुरु के जिंदल नेचर केयर इंस्टीट्यूट में इलाज कराने जाने के बाद उन्हें खांसी से काफी आराम मिला था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खांसी का इलाज बेंगलुरु के डॉक्टर एच.आर. नरेन्द्रा से करवाने की सलाह केजरीवाल को दी थी।

Web Title : Learn more about Kejriwal and Hillary Clinton's 'Khansi Connection'