रिजर्व बैंक से पहले बैंकों ने महंगा किया लोन, HDFC, ICICI बैंक, PNB और SBI ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी की

मुंबई: रिजर्व बैंक की क्रेडिट पॉलिसी के एलान से पहले देश के सभी बड़े बैंकों ने लोन की दरों की दरों में बढ़ोतरी कर दी है। HDFC, ICICI बैंक, PNB और SBI ने ब्याज दरें बढ़ा दी है। इसके बाद आपका होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल लोन के अलावा सभी तरह का लोन महंगा हो जाएगा। इससे ये भी संकेत मिल रहा है कि बैंकों ने मान लिया है कि रिजर्व बैंक 5 अक्टूबर को आने वाली पॉलिसी में दरों को बढ़ाएगा।

देश की सबसे बड़ी होम लोन कंपनी HDFC ने RPLR ने दरों में 0.10 फीसदी की बढ़ोतरी की है। बैंक अब अलग-अलग स्लैव के लिए 8.8 फीसदी से 9.05 फीसदी ब्याज लेगा। नई दरें लागू हो गई हैं। इसमें महिलाओं के 30 लाख रुपए तक का लोन 8.8 फीसदी दर पर मिलेगा। वहीं दूसरों को 30 लाख तक लोन 8.85 फीसदी की दर पर मिलेगा। 30 से 75 लाख रुपए का होम लोन महिलाओं को 8.95 फीसदी और दूसरों को 9 फीसदी की दर पर मिलेगा।

SBI ने सोमवार को MCLR की दरों में 0.05 फीसदी की बढ़ोतरी की है। ये बढ़ोतरी 1 अक्टूबर सोमवार से लागू हो गई है। इसका असर लोन लेने वाले करोड़ों ग्राहकों पर पड़ेगा। SBI का भारत के लोन मार्केट में बहुत बड़ा हिस्सा है। वहीं दूसरी तरफ प्राइवेट बैंक ICICI बैंक ने भी सोमवार को MCLR की दर में 0.10 फीसदी बढ़ोतरी की है। ये बढ़ोतरी भी 1 अक्टूबर से लागू हो गई है। MCLR (मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट) वो दर होती है जिससे कम पर बैंक लोन नहीं देते।

दूसरी तरफ शनिवार को पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने भी ब्याज दरों में 0.2 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। बैंकों ने लगातार तीसरी बार रिजर्व बैंक की पॉलिसी से पहले ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक के फैसले का एलान 5 अक्टूबर को 2.30 बजे। अधिकतर जानकारों को उम्मीद है कि रिजर्व बैंक रुपए की गिरावट को थामने और महंगाई पर लगाम लगाने के लिए रेपो रेट में बढ़ोतरी करेगा। अभी रेपो रेट 6.5 फीसदी है। ये वो दर है जिस पर रिजर्व बैंक बैंकों को लोन देता है।

Web Title : Los bancos han hecho préstamos caros antes de RBI