मकर संक्राति 2018ः जानें ये खास बातें और आपकी राशि पर क्या पड़ेगा असर !

14 जनवरी, 2018 को दोपहर 1 बजकर 47 मिनट पर सूर्यदेव धनु राशि से निकलकर अपने वैचारिक विरोधी शनि की प्रथम राशि मकर में प्रविष्ट होंगे। उनकी अगवानी उनके परम शत्रु शुक्र और केतु करेंगे। इससे 14 तारीख को मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाएगा। लेकिन उदया तिथि सोमवार 15 जनवरी को है इस कारण से कई स्थानों पर लोग 15 जनवरी को भी मकर संक्रांति मनाएंगे। उदया तिथि से आशय वह तिथि है, जिसमें सूर्य का उदय होता है।

सूर्य के उत्तरायण में प्रवेश को भारत में एक पर्व के रूप में मनाने की परंपरा सदियों से रही हैl सूर्य के मकर राशि में आने के बाद से रबी की फसलों की कटाई का समय शुरू हो जाता है। हिन्दू ज्योतिष में सूर्य के मकर राशि में प्रवेश के समय बनने वाली कुंडली से आगामी तीन महीनों के संभावित सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक घटनाक्रमों के सम्बन्ध में भविष्याणियां की जाती रहीं हैं। क्योंकि सूर्य के चर राशियों मकर, मेष, कर्क और तुला में प्रवेश के समय की कुंडलियों का मेदिनी ज्योतिष में अधिक महत्व होता है।

ज्योतिषीय गणना बताती है कि यह संक्रान्ति आकाश मण्डल में शुभाशुभ नवीन समीकरणों को जन्म देगी। शेयर बाज़ार को नवीन पंख लग जाएंगे। बृहस्पति के घर में बुध की उपस्थिति बुद्धि और विवेक को असहज बनाएगी। सूर्य की सीधी दृष्टि राहु पर और मंगल व राहु की पूर्ण दृष्टि सूर्य पर रहेगी इससे राजनैतिक, व्यापारिक व सामाजिक असंतोष व मानसिक विकारों का जन्म होगा।

वर्तमान संवत 2074 में धान्यपति के पद पर सूर्य के विराजने से लोगों को आर्थिक लाभ होगा। सरकार जनता के हित में कई बड़े निर्णय लेगी। जनता की स्थिति सुधरेगी। ऑनलाइन फ्रॉड और अपराध की घटनाएं अधिक होंगी। लेनदेन में सतर्क रहने का काल है। शेयर बाज़ार में चढ़ाव, उतार और फिर चढ़ाव के दरमियान शराब, मेटल, इंफ़्रा, ऊर्जा समेत कई नए सेक्टर के शेयर चुपके से आसमान छू लेंगे। राशियों की बात करें तो आपकी राशि पर संक्रांति का इस तरह असर होने वाला है।

मेष राशिः आर्थिक स्थिति सबल होगी। करियर में प्रतिष्ठा बढ़ेगी। भाई के लिए चिंता बढ़ेगी। आनन्द का सूत्रपात होगा।
वृष राशिः कम लाभ के साथ हानि संभव है। आर्थिक क्षति की भूमिका तैयार होगी। निवेश और लेनदेन में सचेत रहें। बेवजह न उलझें।
मिथुन राशिः विदेश से लाभ संभव है। लम्बे समय के निवेश में छप्पर फाड़ के लाभ से मन मयूर थिरक उठेगा। सेहत को लेकर उलझने काम होंगी।
कर्क राशिः करियर में महत्व से आत्मबल बढ़ेगा। किसी पुरानी संपत्ति के विक्रय में सकारात्मक संकेत मिलने से मन हर्षित होगा। आर्थिक स्थिति सबल रहेगी।
सिंह राशिः विरोधियों से भी लाभ मिलेगा। मां के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। व्यस्तता बढ़ेगी। जेब का भारीपन सुख प्रदान करेगा।
कन्या राशिः कोई अच्छी खबर होठों पर मुस्कान अंकित कर देगी। जोखिम से बचें। वाद-विवाद से दूर रहें। चिंता के मकड़ जाल से बाहर आएं।
तुला राशिः किसी राजकीय या सक्षम व्यक्ति से सम्मान और लाभ का मार्ग प्रशस्त होगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।
वृश्चिक राशिः भावनाओं और वाणी पर काबू रखने से लाभ होगा। आवेश से बचें। कोई अनजाना भय सताएगा।
धनु राशिः देह में आलस्य रहेगा। ट्रेडिंग या कम समय का निवेश तनाव का सबब बनेगा। किसी अधिकारी या सहयोगी का आचरण जहां निराश करेगा।
मकर राशिः जोखिम से बचें अन्यथा कष्ट संभव है। धैर्य का वरण कवच का कार्य करेगा। योग्यता व क्षमता में वृद्धि का प्रयास आनन्द साक्षी बनेगा।
कुंभ राशिः निवेश से प्रचुर लाभ का सबब बनेगा। मन में क्षणिक मामूली उदासी संभव है। किसी मंगल कार्य की तैयारी या उसका आमंत्रण आनन्द प्रदान करेगा। मीठी वाणी से लाभ होगा।
मीन राशिः परिजनों का कर्ज चुकता किए बगैर आप के मन में आनन्द प्राप्त नहीं होगा। आर्थिक उलझन रहेगी। भाई या बहन के परिवार से तनाव संभव है।

सामजिक आन्दोलनों का भी संकेत
मकर संक्रांति के समय उदय लग्न वृषभ से छठे और आठवें घर में ग्रहों का जमावड़ा आने वाले कुछ दिनों में देश में हड़तालों और बड़े सामजिक आन्दोलनों का भी संकेत दे रहा है। सरकार की निजीकरण और विदेशी कंपनियों के भारत में निवेश को प्रोत्साहन देने की नीति का कई संगठनों द्वारा तीव्र विरोध हो सकता है। इसके दबाव में आकर सरकार श्रम कानूनों में सुधार लाकर न्यूनतम मजदूरी में वृद्धि कर सकती है जिससे आम जनता की क्रयशक्ति में वृद्धि होगी और अर्थव्यस्था में मांग बढ़ने से गति आएगी।

Web Title : Makar Sankranti 2018: Learn these special things