मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी पर कसा तंज, बोले- आप हमेशा के लिए सबको मूर्ख नहीं बना सकते

मनमोहन ने कहा कि यूपीए शासनकाल के औसत के हिसाब से देखें, तो अर्थव्यवस्था में पांचवें साल में 10.6 फीसदी की दर से वृद्धि होनी चाहिए। अगर ऐसा होता है, तो मुझे बेहद खुशी होगी, पर मुझे बिल्कुल नहीं लगता कि ऐसा होगा। मनमोहन ने कहा कि मोदीजी ने गुजरातियों को भी छोड़ा। गुजरात के सरकारी स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं। जो शिक्षक हैं, उनकी भी हालत बंधुआ मजूदरों जैसी है। मनमोहन सिंह ने कहा कि ऐसा समाज कैसे विकास कर सकता है, जहां शिक्षकों की ये हालत हो। मनमोहन ने कहा कि अगर बीजेपी की गुजरात में सरकार आती है, तो हम शिक्षा की हालत सुधारेंगे। शिक्षकों को उचित वेतन मिलेगा। छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिलेगी।  मनमोहन सिंह ने इस पर भी सवाल उठाया कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल सस्ता होने के बावजूद मोदी सरकार ने लोगों को इसका फायदा नहीं दिया और पेट्रोल-डीजल के दाम सस्ते नहीं किए।
मनमोहन ने कहा कि मोदीजी ने गुजरात को भी धोखा दिया। गुजरात में बीजेपी के 22 सालों के शासन में सिर्फ एक फीसदी लोगों को फायदा हुआ, आम जनता की हालत नहीं बदली। मनमोहन सिंह ने कहा कि जहां तक करप्शन का सवाल है, जो भी दोषी पाए गए यूपीए शासनकाल में, उनपर सख्त कार्रवाई की गई, लेकिन बीजेपी शासनकाल में जो चीजें नजर आई, उस पर कोई ध्यान नहीं दिया। बीजेपी अध्यक्ष के बेटे पर क्या-क्या कहा जा रहा है, पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा।

‘मोदी के कथनी और करनी में फर्क’

शासन का फर्ज है कि जिन मुद्दों पर जनता में चर्चा हो रही है, उन मुद्दों को शासन देखे, पर ऐसा नहीं हो रहा। मोदी के कहने और करने में फर्क है। मनमोहन सिंह ने कहा कि बाबरी मस्जिद-राम मंदिर का विषय सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है, इसलिए मैं उचित नहीं समझता कि इस पर कोई चर्चा की जाए।

Web Title : Manmohan Singh on Modi Modi